पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बदमाशों के हौसले बुलंद:जमानत पर जेल से आए बदमाश पर जमीन विवाद में भाइयों ने हमला किया

झाबुआ13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 20 से ज्यादा केस हैं राघुसिंह डामोर पर, पारा से लगे कुबेरपुरा का रहने वाला

पारा के पास के गांव कुबेरपुरा के रहने वाले 60 साल के राघुसिंह डामोर पर उसके भाईयों ने जमीन विवाद में हमला कर दिया। बस स्टैंड पर सुबह 10 बजे विवाद होने से भगदड़ मच गई। दुकानें और घर बंद कर लोग अंदर बंद हो गए। आधा घंटे तक मारपीट होती रही। राघुसिंह पर लट्‌ठ और पत्थरों से हमला किया गया। गंभीर घायल होने पर परिजन जिला अस्पताल ले गए, यहां से दाहोद रैफर कर दिया गया।

राघुसिंह तीन दिन पहले ही जमानत पर झाबुआ जेल से बाहर आया था। वो आदतन बदमाश है और उस पर 20 से ज्यादा आपराधिक केस दर्ज हैं। पूर्व में भी एक जमानत पर बाहर आने के बाद डेढ़ महीना पहले पुलिस ने अवैध शराब के केस में पकड़ा था। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया, भाई ने राघुसिंह को ईंट, पत्थर और लट्‌ठ से मारा। दाहोद के निजी अस्पताल में भर्ती किया गया है। बड़ौदा से डॉक्टर जांच के लिए बुलवाए गए हैं। पुलिस ने दो नामजद लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। हमला करने वालों की संख्या 8 से ज्यादा थी। खबर मिलने पर पारा पुलिस चौकी प्रभारी आरएस चौहान, एएसआई प्रेमसिंह परमार और प्रधान आरक्षक सुरेश पग्गी पहुंचे।

चौकी प्रभारी ने बताया, दो लोगों के नाम एफआईआर में लिखे गए हैं। घायल की स्थिति ठीक होने पर वो अन्य लोगों के बारे में बताएगा। हम भी अपनी ओर से पता कर रहे हैं। आसपास के लोगों में से भी किसी ने कुछ नहीं बताया।
रंगदारी चलती थी राघु की
जिस राघुसिंह को भाईयों ने ही इतना पीटा कि वो जिंदगी और मौत के बीच है, उसकी कभी पारा में रंगदारी चलती थी। उसका गांव कुबेरपुरा, पारा से सटा हुआ है। कुबेरपुरा से मिट्‌टी खोदकर पारा के कुम्हार लाते थे तो उसके बदले भी राशि राघुसिंह को देना पड़ती थी। उस पर मारपीट, गुंडागर्दी और डकैती जैसे मामले दर्ज हैं। शुरुआती तौर पर लगभग 20 मामलों का पता चला है। पुलिस और भी केस की जानकारी निकाल रही है।

खबरें और भी हैं...