लूट का केस:बस कंडक्टर से लूट करने वाले चार पकड़ाए, सात फरार

झाबुआ2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पुलिस ने बुधवार सुबह भोपाल-आलीराजपुर बस के कंडक्टर के साथ राणापुर के पास हुई लूट के 4 आरोपियों को पकड़ लिया है। 7 अन्य आरोपी फरार हैं। बस में सवारी होने के बावजूद सिर्फ कंडक्टर से ही लूट करने पर पुलिस को शंका हुई। कंडक्टर प्रकाश से पूछने पर उसने एक दिन पहले भोपाल इसी रूट पर चलने वाली एक अन्य बस के कर्मचारी मोहब्बत मेड़ा से विवाद की बात बताई। जानकारी लेने पर पता चला, माेहब्बत के दोस्तों ने बदला लेने के लिए घटना को अंजाम दिया। पुलिस ने लूटे गए 22 हजार में से 16 हजार रुपए बरामद कर लिए। एक बाइक भी जब्त की गई।

एसपी आशुतोष गुप्ता ने बताया, बस में सुबह करीब सवार 5 बजे ढेकल घाट से कुछ लड़के सवार हुए। सवारी समझकर उन्हें बिठा लिया। कुछ दूर बोरी फाटे पर उन्होंने कंडक्टर प्रकाश से मारपीट शुरू कर दी और पैसे लेकर भाग गए। राणापुर थाने में मामला दर्ज किया गया। जांच में पता चला कि भोपाल में जिस मोहब्बत मेड़ा से कंडक्टर का विवाद हुआ था वो आलीराजपुर जिले के उदयगढ़ का है। ये भी जानकारी मिली कि मोहब्बत के बहुत ही करीबी दोस्त जो उसके लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं, वो गांव उती जिला आलीराजपुर के रहने वाले हैं। पुलिस ने खास दोस्त राजू को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने वारदात कबूल कर ली।

ढेकल घाट से सुनील पिता अमरसिंह, हरीप पिता अमरसिंह, राजू पिता मानसिंह, रणजीत पिता दिलीप, अर्जुन पिता हरिया, विरम पिता पांगला बस में बैठे और सुनील पिता ध्यानसिंह, सुनील पिता जीरू, सुरेश पिता बायसिंह और अर्पित पिता संजू बाइक से पीछे चलते रहे। सुनील अमरसिंह बामनिया, हरीप अमरसिंह बामनिया, राजू मानसिंह देहड़िया और सुनील ध्यानसिंह को गिरफ्तार कर लिया गया। रणजीत दिलीप बामनिया, अर्जुन, विरम, सुनील पिता जीरू बंडोड़िया, सुरेश बायसिंह बामनिया, अर्पित संजू भील और मोहब्बत मेड़ा फरार हैं। थाना प्रभारी राणापुर टीएस डावर, सब इंस्पेक्टर कैलाश सिर्वी, कैशरसिंह पांडव, एएसअई वीरेंद्रसिंह, सुरसिंह, राजेंद्र शर्मा, हेड कांस्टेबल सुनील, तानसिंह, मनोज, कांस्टेबल विजय, तरवेज, अशरफ, भूरसिंह, मंगलेश, महेश, संदीप, दीपक ने आरोपियों को पकड़ने में सहयोग दिया।

खबरें और भी हैं...