पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

धर्म:कलश स्थापना के बाद होगा माताजी का अभिषेक

झाबुआ3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • बालाजीधाम पर दो दिनी पाटोत्सव आज से, संगीत कार्यक्रम भी होगा

शहर के कृषि विभाग के पीछे स्थित बालाजी धाम पर इस वर्ष दो दिवसीय 14वां पाटोत्सव का मनाया जाएगा। 24 एवं 25 फरवरी को यहां नवचंडी हवन एवं माताजी की महाआरती तथा महाप्रसादी का भव्य आयोजन रखा गया है।

मातंगी पारमार्थिक ट्रस्ट झाबुआ के अध्यक्ष एवं प्रमुख ट्रस्टी राकेश त्रिवेदी ने बताया 24 फरवरी को सुबह 11 बजे कलश स्थापना की जाएगी। दोपहर 12.15 बजे माताजी का अभिषेक होगा। दोपहर 1.15 बजे नवचंडी हवन, दोपहर 3 से शाम 5 बजे तक महिला मंडल द्वारा महिला संगीत किया जाएगा। शाम 6.15 बजे संध्या आरती होगी। 25 फरवरी को सुबह 8.30 बजे पूजन एवं नवचंडी यज्ञ होगा।

10 से 11.30 बजे तक स्वल्पाहार होगा। इसके बाद यज्ञ की पूर्णाहूति पर 11.30 बजे महाआरती होगी। दोपहर 12.30 बजे गोष्ठी एवं सम्मान समारोह रखा गया है। दोपहर 1.30 से 3.30 बजे तक महाप्रसादी का आयोजन होगा। कार्यक्रम के मुख्य यजमान मंदिर समिति के अध्यक्ष एवं प्रमुख ट्रस्टी राकेश द्वारकाधीश त्रिवेदी के पुत्र शिवांग त्रिवेदी रहेंगे।

डीआरपी लाइन स्थित साईं मंदिर का 20वां वार्षिकोत्सव 25 फरवरी को

शहर के डीआरपी लाइन स्थित साईंं मंदिर का 20वां वार्षिक उत्सव 25 फरवरी को मनाया जाएगा। इस अवसर पर विशेष रूप से रात में महाआरती के बाद भंडारा होगा। मंदिर के सेवक पं. दिनेश गोस्वामी ने बताया प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी साईंं मंदिर का वार्षिक उत्सव हर्षोल्लासपूर्वक मनाया जाएगा।

मंदिर से जुड़े साईं भक्तों द्वारा सभी आयोजन किए जाएंगे। 25 फरवरी को सुबह 6 बजे काकड़ आरती होगी। 6.30 बजे भगवान का अभिषेक किया जाएगा। 7.30 बजे मंगला आरती और 8 बजे विशेष रूप से स्थापना दिवस के उपलक्ष्य में महाआरती का आयोजन होगा। पश्चात भंडारा (प्रसादी) का आयोजन रखा है। रात 10.30 बजे शयन आरती के साथ कार्यक्रम का समापन होगा।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप अपने व्यक्तिगत रिश्तों को मजबूत करने को ज्यादा महत्व देंगे। साथ ही, अपने व्यक्तित्व और व्यवहार में कुछ परिवर्तन लाने के लिए समाजसेवी संस्थाओं से जुड़ना और सेवा कार्य करना बहुत ही उचित निर्ण...

    और पढ़ें