पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुलाकात:रेलवे महाप्रबंधक से मिले सांसद, कहा- बंद की गई दाहोद-इंदौर परियोजना फिर शुरू करें

झाबुआएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक आलोक कंसल मंगलवार को रतलाम आए। यहां सांसद गुमानसिंह डामोर ने जाकर उनसे मुलाकात की। जीएम रेलवे से उन्होंने कहा, बंद पड़ी दाहोद-इंदौर रेल परियोजना का काम फिर से शुरू करने की कार्रवाई करें। कंसल ने पत्राचार करने का भरोसा दिलाया।

आपको बता दें, रेलवे बोर्ड ने पहले इस परियोजना को होल्ड पर डाला, फिर काम बंद कर दिया। एक साल से रेल लाइन का काेई काम नहीं हुआ। इसकी शुरुआत 8 फरवरी 2008 में हुई थी। तब लागत 876 करोड़ थी, जो काम बंद करने तक 1600 करोड़ के आसपास हो गई।

दाहोद-इंदौर रेल लाइन का काम रेलवे बोर्ड ने बंद करने का निर्णय लिया। इसे फिर से शुरू कराने के लिए बोर्ड को निर्देश दिलाना होंगे। जरूरी है कि प्रधानमंत्री, रेलमंत्री और बड़े नेता इसमें दखल दें। हालांकि सांसद ने पिछले दिनों रेलमंत्री से भी इस मुद्दे को लेकर मुलाकात की थी।

केंद्र ने इस साल बजट में दाहोद-इंदौर रेल लाइन के लिए 120 करोड़ रुपए बजट आवंटित किया था। लेकिन इसके कुछ दिन बाद ही पूरे ट्रैक पर काम बंद हो गया। खबर आई रेलवे बोर्ड ने इसे ज्यादा खर्चीला और कम मुनाफे वाला प्रोजेक्ट होने के कारण होल्ड पर डाल दिया था। शुरुआत में इससे इंकार किया गया, लेकिन बाद में स्थिति साफ हो गई। समझिए इस साल काम बिल्कुल नहीं हुआ।

इसके लिए 13 साल में कुल 876 करोड़ रुपए जारी किए जा चुके हैं। 209 किलोमीटर की लाइन में से सिर्फ 36 किलोमीटर डली है। दाहोद से लेकर कतवारा तक 11 किलोमीटर और इंदौर से धार की तरफ 25 किलोमीटर लाइन डली है। झाबुआ में जमीन अधिग्रहण हो चुका और गुजरात सीमा से झाबुआ के पास तक कुछ काम हुआ। पीथमपुर में 3 किमी लंबी टनल का आधा काम हो चुका है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- यह समय विवेक और चतुराई से काम लेने का है। आपके पिछले कुछ समय से रुके हुए व अटके हुए काम पूरे होंगे। संतान के करियर और शिक्षा से संबंधित किसी समस्या का भी समाधान निकलेगा। अगर कोई वाहन खरीदने क...

और पढ़ें