पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कार्रवाई में देरी:16 करोड़ की सरकारी राशि का गबन करने वाले फरार 8 आरोपियों की संपत्ति होगी कुर्क

उदयगढ़21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • खंड शिक्षा कार्यालय में हुए गबन मामले में 11 माह पहले दर्ज हुई थी पहली एफआईआर

उदयगढ़ खंड शिक्षा कार्यालय के अंतर्गत करोड़ों रुपए की सरकारी राशि का गबन करने वाले 6 आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद से अन्य 8 आरोपी अब भी फरार है। मामले में एसपी विजय भागवानी ने आरोपियों को जल्द से जल्द से गिरफ्तार करने के निर्देश थाना प्रभारी को दिए हैं। सूत्र के अनुसार फरार आठ आरोपी में से तीन आरोपी में बीएल राव, नरसिंह भूरिया झाबुआ जिले के पेटलावद तहसील में और डुगरसिंह सोलंकी आलीराजपुर जिले की जोबट तहसील मुख्यालय पर निवासरत है। अब पुलिस आरोपियों की संपत्ति कुर्क करने की कार्रवाई की तैयारी कर रही है।

16 जुलाई-20 को थाना उदयगढ़ में पहुंचा था मामला
ये है पूरा मामला : 16 जुलाई 2020 को थाना उदयगढ़ पर सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग आलीराजपुर द्वारा खंड शिक्षा कार्यालय उदयगढ़ में 1 करोड़ 22 लाख 85 हजार 139 रुपए के गबन के आरोपी रितुराजसिंह सोलंकी पर थाना उदयगढ़ में धारा 409, 420, 467, 468, 471, 120 बी, 201 भादवि का अपराध विवेचना में लिया गया था। विवेचना के दौरान आरोपी सोलंकी को गुजरात के वडोदरा से गिरफ्तार किया गया था। आरोपी से पूछताछ के बाद घटना के संबंध में साक्ष्य एकत्रित किए गए। जिसमें धीरे-धीरे कुल 14 से 15 लोगों के गबन में शामिल होने की बात सामने आई। सभी आरोपियों पर केस दर्ज होने के बाद 6 आरोपियों की गिरफ्तारी हुई जबकि अन्य फरार है।

सभी आरोपियों को लेकर वर्तमान में पुलिस की स्थिति
फरार आरोपी : वर्तमान में गबन कांड के आठ आरोपी तत्कालीन बीईओ परमानंद धाकड़, डाॅ. सूरजसिंह, केएस तोमर, एमएल परमार, डुगरसिंह सोलंकी, नवीन श्रीवास्तव, तत्कालीन लेखापाल बीएल राव, तत्कालीन उप कोषालय अधिकारी जोबट प्रभारी नरसिंह भूरिया पुलिस की गिरफ्त से बाहर है।

पकड़े गए आरोपी: पकड़े गए आरोपियों में तत्कालीन बीईओ एनएस रावत, बीपी पटेल, प्रभारी लेखापाल रितुराज सोलंकी, अशोक नीमा सहायक ग्रेड-2, तत्कालीन प्रभारी लेखापाल खुमानसिंह भुरा, तत्कालीन मंडल संयोजक हेतराम राजपूत गिरफ्तार हो चुके हैं। इनमें से हेतराम राजपूत की कोरोना से मौत हो चुकी है।

थाना प्रभारी डामाेर लाइनअटैच, उसके बाद से नहीं हुई किसी की गिरफ्तारी
गौरतलब है कि थाना प्रभारी पीएस डामोर आरोपियों की धरपकड़ कर रहे थे। लेकिन मार्च में भगोरिया मेले में एक युवक से मारपीट करने का उनका विडियो वायरल हुआ और एसपी ने उन्हें लाइनअटैच कर दिया। फिर थाने का प्रभार एसआई वीरेंद्र अनारे काे सौंपा गया। उन्हें प्रभार संभाले 3 माह से अधिक हो चुके हैं। पर अब तक फरार आरोपियों में से एक को भी पुलिस हिरासत में नहीं ले पाई है।

आरोपियों की तलाश कर रहे हैं
आरोपियों की तलाश के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। अब उनकी संपत्ति कुर्की की कार्रवाई की जा रही है। इस प्रक्रिया में समय अधिक लगता है।
विजय भागवानी, एसपी आलीराजपुर

खबरें और भी हैं...