पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

स्थानांतरण:25 दिन में ही एसडीएम को हटाया, झाबुआ कलेक्टोरेट में किया पदस्थ

झाबुआ10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • रविवार रात संघ कार्यकर्ता के साथ हुए विवाद को बताया जा रहा है स्थानांतरण की वजह

18 जून को यहां पदस्थ हुए एसडीएम डॉ. अभयसिंह खरारी को कलेक्टर ने पेटलावद से हटाकर झाबुआ में पदस्थ किया है। उन्होंने यहां सिर्फ 25 दिन काम किया। उनकी जगह अब एलएन गर्ग नए एसडीएम होंगे। शनिवार रात को आरएसएस पदाधिकारी के साथ हुई बहस को उनके स्थानांतरण का कारण बताया जा रहा है। वे अपनी सख्त कार्यप्रणाली के कारण झाबुआ में भी विवादों में रह थे।  खरारी द्वारा कोरोना को लेकर सरकार द्वारा जारी गाइड लाइन का सख्ती से पालन कराया जा रहा था। रात में भी वे भ्रमण कर लोगों पर सख्ती दिखा रहे थे। इसके चलते उनकी कई लोगाें से बहस हुई। लोगों ने लगातार उनकी शिकायतें भी की। एसडीएम एक माह का कार्यकाल भी पूरा नहीं कर पाए और सोमवार को उन्हें पेटलावद एसडीएम से हटाकर झाबुआ कलेक्टोरेट में पदस्थ कर दिया गया। 

ये विवाद भारी पड़े
पहले विवाद में रविवार दोपहर करीब 3.30 बजे का है। दीपक मूणत अपनी स्कूटी से साईं मंदिर पर स्थित पानी की टंकी पर पानी भरने गए थे। तभी एसडीएम खरारी ने उन्हें रोककर लॉकडाउन का उल्लंघन करने की बात कहते है और अपने वाहन में बैठाकर बामनिया के कंटेनमेंट एरिये में लगभग शाम 6.30 बजे छोड़कर आ गए। वहीं शाम के समय नगर भ्रमण के दौरान आरएसएस के रतलाम विभाग के शारीरिक शिक्षण प्रमुख आकाश चौहान से बहस हुई। उनके घर के बाहर की छोटी शटर खुली होने पर शटर बंद करने की बात को लेकर दोनों के बीच जमकर बहसबाजी हुई। इसी विवाद को एसडीएम के स्थानांतरण का मुख्य कारण माना जा रहा है। क्योंकि इसके बाद ही सोशल मीडिया और अन्य माध्यमों से एसडीएम का विरोध तेज हो गया। संघ कार्यकर्ता भी उनसे नाराज दिखे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा व्यवहारिक गतिविधियों में बेहतरीन व्यवस्था बनी रहेगी। नई-नई जानकारियां हासिल करने में भी उचित समय व्यतीत होगा। अपने मनपसंद कार्यों में कुछ समय व्यतीत करने से मन प्रफुल्लित रहेगा ...

    और पढ़ें