पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

शुभ योग:साल का दूसरा गुरु पुष्य 25 को, खरीदी रहेगी श्रेष्ठ

झाबुआ5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • चंद्र के अपनी राशि में रहने से इस दिन बढ़ेगी शुभता, पूरे दिन खरीद-फरोख्त कर सकते हैं

नए साल का दूसरा गुरु पुष्य योग 25 फरवरी को रहेगा। इसके एक दिन पहले दोपहर 12.30 बजे पुष्य नक्षत्र योग प्रारंभ हो जाएगा लेकिन गुरुवार को दूसरे दिन यह दोपहर 1.18 बजे तक ही रहेगा। ज्योतिषियों का मत है कि पौष माह के इस गुरु पुष्य संयोग से खरीद-फरोख्त और पूजा-पाठ के लिए ये दिन शुभ और मंगलकारी रहेगा। इसके पहले गुरु पुष्य योग 28 जनवरी को था। अब दीपावली के पहले 28 अक्टूबर और 25 नवंबर को सूर्योदय से सूर्यास्त तक ये शुभ संयोग रहेगा।

पं. हिमांशु शुक्ल ने बताया 27 नक्षत्रों में गुरु पुष्य को सर्वाधिक शुभ माना जाता है इसलिए पूरे दिन खरीद-फरोख्त की जा सकती है। इस नक्षत्र को तिष्य और अमरेज्य के नाम से भी जाना जाता है। तिष्य का मतलब शुभ-मांगलिक और अमरेज्य का मतलब देवताओं द्वारा पूजित होना है।

भगवान विष्णु के अाधिपत्य वाले दिन गुरुवार को पुष्य नक्षत्र योग से उसकी शुभता और बढ़ जाती है। गृह उपयोगी वस्तुओं की खरीदी करना समृद्धिदायी होता है। यह शनिदेव का नक्षत्र होता है। गुरु और शनि आपस में समभाव रखते हैं। मान्यता है कि इस दिन खरीदी गई चीज लंबे समय तक टिकती है।

ज्योतिषियों का मत : व्रत से दूर होगा आर्थिक संकट

ज्योतिषी विश्वनाथ शुक्ल ने बताया कि गुरुवार को पुष्य नक्षत्र होना शुभ होता है। इस दिन शुभ काम करने के साथ ही खरीद-फरोख्त करना भी मंगलकारी होता है। चंद्रमा अपनी ही राशि यानी कर्क में रहेगा, जिससे इस दिन की शुभता और बढ़ जाएगी। ऐसे शुभ योग में भूमि, भवन, ज्वेलरी और वाहन खरीदी के साथ ही नया कारोबार शुरू करना श्रेष्ठ होता है।

गुरुवार को व्रत रखने से आर्थिक संकट और अन्य परेशानियां भी दूर होती हैं, जो लोग गुरुवार को दोपहर तक खरीदारी नहीं कर सके, वे एक दिन पहले से शुरू हो रहे पुष्य योग में भी खरीद-फरोख्त कर सकते हैं।

इस नक्षत्र में विवाह और सगाई का कार्य नहीं होता है

पं. शुक्ल ने बताया पुष्य नक्षत्र को सिंह के समान माना गया है। जैसे श्रंगाल याने सियार के झुंड सिंह के आने से भाग जाते हैं वैसे ही समस्त कुयोग का समूह भी पुष्य नक्षत्र में प्रभावहीन हो जाता है। लेकिन इस नक्षत्र में विवाह और सगाई का कार्य नहीं होता है। इन दोनों कार्य के लिए यह नक्षत्र शुभ नहीं है। 25 फरवरी को मां मोढेश्वरी प्राकट्य दिवस भी है। देवों के वास्तुकार विश्वकर्माजी की जयंती के रूप में भी इस दिन को मनाया जाता है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप प्रत्येक कार्य को उचित तथा सुचारु रूप से करने में सक्षम रहेंगे। सिर्फ कोई भी कार्य करने से पहले उसकी रूपरेखा अवश्य बना लें। आपके इन गुणों की वजह से आज आपको कोई विशेष उपलब्धि भी हासिल होगी।...

    और पढ़ें