पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

शिक्षा विभाग:9वीं-11वीं की वार्षिक परीक्षाएं ओपन बुक पद्धति से होगी

झाबुआ5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 12 अप्रैल से शुरू होगी परीक्षाएं, बढ़ते संक्रमण को देखते हुए शिक्षा विभाग ने जारी किया आदेश

बढ़ते कोरोना संक्रमण का असर इस साल फिर विद्यार्थियों की परीक्षाओं पर पड़ा है। इसकी वजह से 9वीं-11वीं की वार्षिक परीक्षाएं ओपन बुक पद्धति से की जाएगी। इसके संबंध में शिक्षा विभाग ने निर्देश जारी कर दिए है। हालांकि इन्हीं के साथ होने वाली कक्षा 10वीं व 12वीं की प्री-बोर्ड परीक्षाएं हर बार की तरह ही होगी। हालांकि कहा जा रहा है कि 10वीं-12वीं की प्री-बोर्ड परीक्षा के संबंध में 12 अप्रैल को सीएम की समीक्षा बैठक में भी कुछ निर्णय हो सकता है।

कोरोना संक्रमण के कारण प्रदेश के सभी जिलों में मौजूदा हालातों को देखते हुए लोक शिक्षण संचालनालय ने शिक्षा विभाग को निर्देश दिए हैं। इसमें कहा गया है कि आगामी 12 अप्रैल से शुरू होने वाली 9वीं व 11वीं की परीक्षाएं ओपन बुक सिस्टम से कराने की तैयारी की जाए। यानी स्टूडेंट्स को उनके घर पर पेपर और उत्तर पुस्तिका उपलब्ध कराई जाएगी। स्टूडेंट्स उसे अपने स्कूलों में जमा कराएंगे। सभी विद्यार्थियों के पास भी ऑनलाइन परीक्षा देने की व्यवस्थाएं नहीं है। ऐसी स्थिति में ओपन बुक सिस्टम ही एकमात्र विकल्प है।

इससे पहले उच्च शिक्षा विभाग पहले ही स्नातक प्रथम-द्वितीय वर्ष एवं पोस्ट ग्रेजुएट द्वितीय सेमेस्टर की परीक्षाएं इसी पद्धति से कराने का निर्णय ले चुका है। हालांकि माध्यमिक शिक्षा मंडल तय कार्यक्रम के मुताबिक परीक्षा कराने की तैयारी कर रहा है। यदि 15 अप्रैल तक संक्रमण कम हुआ या स्थिरता आई, तो परीक्षा आगे नहीं बढ़ेगी।

दो विकल्प दिए स्कूल शिक्षा विभाग ने : कक्षा 9वीं-11वीं की वार्षिक परीक्षा के लिए स्कूल शिक्षा विभाग ने दो विकल्प दिए थे। पहला विकल्प ऑनलाइन परीक्षा का था। दूसरा प्रश्न पत्र घर ले जाकर ओपन बुक पद्धति से परीक्षा देने का था। आदेश अनुसार शासकीय विद्यालयों के विद्यार्थी दूसरे विकल्प यानि घर ले जाकर पर्चा हल करेंगे। जबकि अशासकीय विद्यालय विकल्प एक एवं दो में से किसी एक विकल्प के अनुसार परीक्षाएं आयोजित कर सकेंगे।

188 स्कूलों के 20 हजार 926 बच्चों को मिली राहत
पिछले साल से ही कोरोना संक्रमण के कारण करीब 10 माह तक स्कूल बंद रहे और ऑनलाइन पढ़ाई हुई। दिसंबर से स्कूलों में ऑफलाइन कक्षाएं लगना शुरू हुई थी और अब फिर संक्रमण बढ़ने लगा। इन सभी परिस्थितियों के कारण विद्यार्थियों की पढ़ाई सही ढंग से नहीं हो सकी। अब परीक्षाएं भी ओपन बुक पद्धति से ली जा रही है। जिससे जिले में कक्षा 9वीं के 14678 और 11वीं के 6248 विद्यार्थियों को राहत मिलेगी।

प्री बोर्ड परीक्षा में बदलाव नहीं
^संक्रमण फिर से बढ़ने से 12 अप्रैल से शुरू होने वाली 9वीं-11वीं की वार्षिक अब शासन ने ओपन बुक पद्धति से कराने के आदेश जारी कर दिए है। इसके साथ ही 10वीं-12वीं की प्री-बोर्ड परीक्षा भी होना है। फिलहाल इसमें कुछ बदलाव नहीं हुआ है।
ज्ञानेंद्र ओझा, डीईओ

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आसपास का वातावरण सुखद बना रहेगा। प्रियजनों के साथ मिल-बैठकर अपने अनुभव साझा करेंगे। कोई भी कार्य करने से पहले उसकी रूपरेखा बनाने से बेहतर परिणाम हासिल होंगे। नेगेटिव- परंतु इस बात का भी ध...

    और पढ़ें