पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

परिजन अस्पताल ले गए वहां युवक ने तोड़ा दम:घायल युवक को घर के बाहर छोड़ भाग रहे थे, दो को ग्रामीणों ने पकड़ा

झाबुआ9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मृतक मुकेश - Dainik Bhaskar
मृतक मुकेश
  • हत्या का आरोप लगाया, शव को खेत में रखकर बैठे रहे परिजन

कालीदेवी में रहने वाले मुकेश (25) पिता मिठिया वसुनिया की गंभीर रूप से घायल होने के बाद मौत हो गई। उसे घायल अवस्था में कुछ युवक बाइक से पैतृक घर के बाहर गांव पिपलिया में छोड़कर जा रहे थे। गांव वालों ने एक बाइक से दो युवकों को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया।

घायल मुकेश को परिजन जिला अस्पताल ले गए, जहां कुछ देर बाद मौत हो गई। परिजन ने हत्या के आरोपियों को पकड़ने की मांग की। शाम तक शव का अंतिम संस्कार नहीं किया, उसे एक खेत में रख दिया। शनिवार सुबह युवक अपने ससुराल छोटी खरडू गया था। परिजन ने बताया, मुकेश की शादी खरडू छोटी के मेहताब डामोर की बेटी से 10 साल पहले हुई थी। शाम करीब साढ़े 5 बजे कुछ युवक बाइक से उसे लेकर पिपलिया गांव आए। मुकेश के शरीर पर चोट के निशान थे।

मुकेश को पैतृक घर के बाहर छोड़कर जाने लगे। तभी बबलू और कल्लू पिता नाना वसुनिया ने देख लिया। गांव के बाकी लोग एक बारात में गए थे। दोनों भाइयों ने दौड़कर दो बाइक सवारों को पकड़ लिया। मुकेश को 108 एंबुलेंस से जिला अस्पताल भेजा गया। शाम साढ़े 6 बजे उसकी मौत हो गई।

सिर में गंभीर चोट, ससुराल वालों ने की हत्या: बड़ा भाई
मुकेश के बड़े भाई राकेश ने आरोप लगाया, ससुराल वालों ने हत्या की है। उसके सिर में गंभीर चोट थी। मुकेश का शव परिवार वालों ने घर के पास एक खेत में रखा। बारिश हुई तो प्लास्टिक से ढंक दिया, लेकिन अंतिम संस्कार नहीं किया। पुलिस अफसर भी समझाने पहुंचे।

राकेश का कहना है, पकड़े गए बाइक सवार ने मुनसिंह पिता मेहताब डामोर का नाम बताया है। पुलिस ने उसे गिरफ्तार नहीं किया। जब तक निराकरण नहीं होता, शव का अंतिम संस्कार नहीं करेंगे। टीआई सुरेंद्रसिंह गाडरिया ने बताया, तफ्तीश कर रहे हैं। परिवार वालों को अंतिम संस्कार के लिए समझाया है।

खबरें और भी हैं...