पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भास्कर पड़ताल:2 दिन से माछलिया घाट में जाम की स्थिति, 4 किमी तय करने में लग रहा एक घंटा

कालीदेवी, झाबुआ5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 18 फीट लंबे ट्राॅलों के लिए बनाया था रोड, अब 25 फीट की गाड़ियां निकल रही

बैतूल-अहमदाबाद हाइवे पर दो दिन से लगातार जाम लग रहा है। वाहन रेंग रहे हैं। 4 किलोमीटर का घाट पार करने में आधा से एक घंटा लग रहा है। रविवार को भी आर्मी का सामान लेकर जा रहे काफिले का एक ट्रेलर साईं मंदिर वाले मोड़ पर फंस गया।

लगातार जाम के कारण इस रूट पर चलने वाली बसें या तो छापरी वाले प्रधानमंत्री ग्रामीण रोड से गुजर रही हैं या राजगढ़ से पारा के रास्ते का उपयोग कर रही हैं। इन रास्तों पर अगर दुर्घटना होती है तो जिम्मेदार बस वाले रहेंगे या एनएचएआई वाले। बस वालों की मजबूरी है कि वो इन रास्तों से जाएं, लेकिन दुर्घटना के बाद क्लैम प्रकरणों में परमिट वाला रूट नहीं होने से परेशानी आएगी।

रविवार और सोमवार को माछलिया घाट के यू टर्न सहित, खाकरा पुलिया, डुंगलापानी के टर्न, भैरव बाबा मंदिर के पास वाले टर्न पर गाड़ियां फंस रही हैं। घाट के कुछ मोड़ को चौड़ा करने के बावजूद ये स्थिति बन रही है। सोमवार को पूरा दिन वाहन काफी धीमी गति से गुजरे। दरअसल नेशनल हाइवे बन चुके इस रोड को फोरलेन कर दिया गया, लेकिन 16 किलोमीटर का हिस्सा नहीं बन सका। इसमें माछलिया घाट सेक्शन भी शामिल है। जाम लगने की 10 वर्षों पुरानी है।

10 साल पुरानी है समस्या- 2010 में घोषित हुआ नेशनल हाइवे, लेकिन फोरलेन नहीं बना

नेशनल हाइवे अथॉरिटी ने 2010 में इंदौर से अहमदाबाद तक के मार्ग को एनएच घोषित कर निर्माण शुरू किया था। प्रदेश के हिस्से में इंदौर से लेकर पिटोल बॉर्डर तक का मार्ग आता है। गुजरात के हिस्से में गुजरात बॉर्डर से अहमदाबाद तक का रोड 5 साल पहले बनकर पूरा हो चुका है।

प्रदेश के हिस्से के 16 किलोमीटर का रोड 40 साल से ज्यादा पुराना है। ये तब डबल लेन था। हाईवे उस समय 1612 एलपी टर्बो 6 टायर व 18 फीट लंबे ट्रकों के हिसाब से घाट कटिंग कर बनाया गया था। अब इस पर 25 फीट लंबे ट्राले तक निकलते हैं। ये घाट के शार्प टर्न पर फंस जाते हैं। इन गाड़ियों को दोनों साइड कवर करके निकालना पड़ता है, जिससे बार-बार जाम की स्थिति बनती है।

  • 155 किलोमीटर हाइवे प्रदेश के हिस्से में है
  • 16 किलोमीटर का रोड नहीं बन सका
  • 11 साल पहले फोरलेन निर्माण की लागत 1150 करोड़ थी
  • 2372 करोड़ हो चुकी है अब निर्माण लागत
  • 248 करोड़ चाहिए माछलिया घाट निर्माण के लिए

समस्या है तो समाधान भी... ये कर सकते हैं

1. फोरलेन का अटका प्रोजेक्ट पूरा हो जाए

ये सबसे जरूरी है। कभी खरमोर एरिया के लिए फॉरेस्ट की अनुमति नहीं मिलने तो कभी बजट की कमी की वजह से ये नहीं हो पाया। माछलिया घाट पर फोरलेन बनाने के लिए 248 करोड़ की जरूरत है। फोरलेन बनाने वाली कंपनी के पास पैसा नहीं है और बैंक वाले भी नहीं दे रहे। ऐसे में जरूरी है कि केंद्र सरकार पैसा दे। बार-बार जनप्रतिनिधियों की कोशिशों के बावजूद ये पैसा नहीं मिला। अभी इसकी संभावना भी कम ही है।

2. बड़े वाहनों के टर्न होने जितनी जगह बनाई जाए

लेकिन ये हल परमानेंट नहीं होगा। आगे चलकर फोरलेन बनाना पड़ेगा। अभी फोरलेन बनने के बावजूद भी उम्मीद के मुताबिक यातायात नहीं है और पर्याप्त टोल भी जमा नहीं हो पा रहा। कारण बीच में 16 किमी टू लेन होने से कई गाड़ियां इस रास्ते पर नहीं आती। ये किया भी तो घाट में क्षतिग्रस्त हो रहे रास्तों को दुरुस्त करना पड़ेगा। साथ ही खाकरा पुलिया को नया और चौड़ा बनाना बेहद जरूरी है। इसके अलावा बड़े वाहनों टर्न होने जितनी जगह बनाना होगी।

पिछले दो साल में कब लगे लंबे जाम

  • 16 नवंबर 2019 को खाकरा की सिंगल पुलिया पर एक ट्राला जो गुजरात से इंदौर की ओर जा रहा था खराब होने से कई घंटे जाम की स्थिति बनी।
  • 6 नवंबर 2019 को खाकरा पुलिया पर ट्राला फंसने से 26 घंटे से तक बड़े वाहन जाम में फंसे रहे।
  • 30 अगस्त 2020 को साईं मंदिर के नीचे यू टर्न पर मोरबी से टाइल्स भरकर इंदौर जा रहा ट्राला चढ़ाई पर खराब होने से 4 घंटे तक जाम लगा। उसके बाद दोपहर 1 बजे गुजरात से इंदौर की ओर यू टर्न पर ही ट्राला के सामने अचानक ट्रक आने से वो रोड से उतर गया और 2 घंटे जाम लगा रहा।
  • 13 सितंबर 2020 को एक ट्राला लेबड़ से लोहे की पटि्टयां भरकर गुजरात के राजकोट जा रहा था। खाकरा की पुलिया के किनारे से टकराकर बंद हो गया। इससे लंबा जाम लगा।
  • 16 अक्टूबर 2020 को भैरव बाबा मंदिर के पहले वाले मोड़ पर सुबह 7 बजे ट्राला पलटने से 7 घंटे जा रहा।
खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप प्रत्येक कार्य को उचित तथा सुचारु रूप से करने में सक्षम रहेंगे। सिर्फ कोई भी कार्य करने से पहले उसकी रूपरेखा अवश्य बना लें। आपके इन गुणों की वजह से आज आपको कोई विशेष उपलब्धि भी हासिल होगी।...

    और पढ़ें