अनदेखी:डेंगू के दो मरीज मिलने के बाद धेगदा में पहुंचे सीईओ, नालियों में गंदगी दिखी तो करवाई सफाई

धेगदाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • मकान मालिक ने कहा नाली नहीं होने से पानी की निकासी नहीं हाेती, सालभर रहता है कीचड़

धेगदा में डेंगू के दो मरीज मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने गांव में घूमकर सर्वे किया था। मंगलवार को गांव में दो डेंगू मरीजों व गंदगी को लेकर समाचार प्रकाशन के बाद हरकत में आए अधिकारी निरीक्षण के लिए धेगदा पहुंचे और गांव में घूमकर समस्या देखी। हालांकि सीईओ दो मोहल्लों में समस्या देख सुंद्रेल के लिए निकल गए। भास्कर ने धेगदा में डेंगू की दस्तक, गांव में नहीं हो रही सफाई शीर्षक से प्रमुखता से खबर प्रकाशित की थी। जिसके बाद बुधवार सुबह करीब साढ़े नौ बजे जनपद पंचायत सीईओ राजेंद्र पालनपुरे धेगदा पहुंचे। यहां गंदगी को लेकर सरपंच, सचिव को सफाई करने के निर्देश दिए।

मंदिर मोहल्ले से हरिजन माेहल्ले होते हुए जायसवाल मोहल्ले में नालियों की स्थिति देखी। इस दौरान शुरू में ही एक घर का पानी ऊपर से सीधे मोहल्ले के मार्ग पर गिर रहा था। जिसके लिए मकान मालिक को पाइप लगाकर पानी की निकासी नाली में करने की हिदायद दी। मकान मालिक ने बताया कि नाली नहीं होने से पानी की निकासी नहीं होने से वर्षभर कीचड़ पसरा रहता है। पास में खंडहर पढ़े मकान की सफाई करने के लिए निर्देश दिए। सफाई नहीं करने पर पंचायत द्वारा नोटिस जारी करने की बात कही। एक नागरिक गांव की समस्याओं से सीएमओ को अवगत करवा रहा था तभी उसी के बाड़े में उकेडे पर गंदगी मिलने पर सीईओ ने सोकपिट बनाने की बात कही। युवक ने निजी जमीन होना बताकर मना कर दिया। जिस पर सीईओ ने जल्द से जल्द बाड़े का उकेडा हटाने व गंदे पानी की निकासी करने के निर्देश दिए। गांव में बने सोकपिट भी देखे।

जायसवाल माेहल्ले में दिखाई दी गंदगी

जायसवाल मोहल्ले में नलियों में कीचड़ देख व मोहहले में मार्ग पर पानी भरा देख सीईओ नाराज हुए व सचिव को तत्काल साफ सफाई करने के निर्देश दिए। जिस पर तत्काल मजदूर बुलवा कर सफाई करवाई गई। मोहल्ले के कुछ लोग इस दौरान समय पर सफाई नहीं होने की शिकायत लेकर पहुंचे जिस पर सीईओ ने कहा कि जनता की भी कुछ जिम्मेदारी है। जनता अपने कर्तव्यों को समझे, देश के प्रधानमंत्री स्वच्छता अभियान चला रहे हैं। अपने घर के सामने हम भी सफाई रख सकते हैं। सीईओ पालनपुरे ने दशहरे के बाद नालियों के निर्माण की बात कही। कुछ जगह अंडर ग्राउंड नालियां बनाने की बात कही और उन नालियों ने सफाई के लिए चेंबर छोड़ने की बात कही।

समय-समय पर पानी बदलने के निर्देश

एक जगह पशुओं को पानी पिलाने के लिए बने हलात को देख मालिक को उस पर मीठा तेल डाल कर समय समय पर पानी बदलने के निर्देश दिए। जिन लोगों के उकेडे रहवासी बस्ती में है उनकी लिस्ट बना कर नोटिस जारी करने की बात कही। इस दौरान सब इंजीनियर अजय कनपुरिया, सचिव लट्टुसिंह चौहान, सरपंच प्रतिनिधि प्रकाश मुवेल, सहायक सचिव सचिन पाटीदार, महेंद्र दिल्लीवान, दीपक जाट, राजकुमार जाट, सागरसिंह वर्मा, गंगाराम आदि ग्रामीण मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...