पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

डेढ़ साल से कर रहा जीवन के लिए संघर्ष:भाभी बनेंगी तारणहार, देवर को बचाने दान करेंगी लिवर

मनावर4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 30 जुलाई काे मुंबई के निजी अस्पताल में हाेगा ऑपरेशन

डेढ़ साल से जीवन और माैत के बीच संघर्ष कर रहे देवर काे भाभी अपना लिवर डाेनेट करेगी। 30 जुलाई काे मुंबई के अस्पताल में ऑपरेशन हाेगा। इसके लिए पूरी प्रक्रिया हाे चुकी है और लिवर भी मैच हाे गया है। अंगदान महादान के प्रति महिलाओं काे इसके लिए आगे आने के लिए 46 वर्षीय माधुरी जैन ने यह निर्णय लिया है।

दरअसल नगर के रितेश पिता इंदरचंद जैन 48 काे लिवर में बीमारी है। करीब डेढ़ साल से लिवर के लिए अहमदाबाद, इंदाैर, चैन्नई में डाॅक्टरों के माध्यम से उपचार कराया लेकिन राहत नहीं मिली। अंत में डाॅक्टर ने खराब लिवर निकाल कर दूसरा लगाने के लिए कहा। इसके लिए परिवार काे डाेनर आसानी से नहीं मिल रहा था। भाभी माधुरी पति नीलेश जैन (46) ने देवर का जीवन बचाने के लिए अपना लिवर दान करने का निर्णय लिया।

परिवार की मदद के लिए भाजपा नेता नारायण सोनी व हेमंत खटोड़ के विशेष प्रयास से सांसद छतरसिंह दरबार ने प्रधानमंत्री राहत कोष से चिकित्सा सहायता के लिए राशि स्वीकृत करने के लिए पत्र भी लिखा है। मरीज जैन ने बताया लिवर ट्रांसप्लांट के लिए बहुत ही कागजी खानापूर्ति करना पड़ी। जिसमें काफी समय भी लगा, लेकिन मनावर के प्रशासनिक अधिकारियों के सहयोग से काम जल्दी हो गया। हमें पूरा भराेसा है कि भाभी और मैं शीघ्र स्वस्थ होकर घर लाैटेंगे।

त्याग का महत्व समझाने लिया दान का निर्णय

डोनर जैन ने बताया जैन समाज में त्याग,सेवा भाव, मानव सेवा हमारी संस्कृति और परंपरा के केंद्र में रहे हैं। अंगदान महादान हाेकर अपने अंग दान से किसी की जिंदगी बचती है ताे इससे बड़ा सुख कुछ भी नहीं है। लिवर डोनर माधुरी जैन एवं मरीज रितेश जैन की पत्नी अभिलाषा जैन दोनों सगी बहनें हाेकर एक ही घर में दोनों भाई निलेश व रितेश से शादी हुई है। यह ऑपरेशन मुंबई के निजी अस्पताल में 30 जुलाई को हाेगा। इसमें 18 घंटे का समय लगेगा।

खबरें और भी हैं...