पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कार्रवाई की जाएगी:अजनार नदी का पानी प्रदूषित व पीने योग्य नहीं, केमिकल मिलाने वालों पर होगी एफआईआर

महू-मानपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अजनार नदी से लिए गए पानी के सैंपलों की रिपोर्ट से साफ हुआ है कि इसमें किसी तरह का केमिकल मिलाया गया है। इससे यह पानी प्रदूषित हो गया है और यह पीने योग्य नहीं रहा है। एसडीएम ने कहा है कि केमिकल मिलाने के मामले की जांच करवा रहे हैं। जैसे ही इन लोगों के नाम सामने आएंगे इनके खिलाफ एफआईआर करवाई जाएगी।

मानपुर के समीप आदिवासी बहुल गांव कालीकिराय स्थित अजनार नदी में किसी ने केमिकल डाल दिया था जो सोमवार को हल्की बारिश में बहकर फैल गया। इससे काली किराय सहित आसपास पांच गांवों के ट्यूबवेल से खराब पानी निकलने लगा। इसके चलते ग्रामीणों को न ट्यूबवेल से पीने के पानी मिल पा रहा है और नहीं मवेशी नदी का पानी पी पा रहे हैं। इसका ग्रामीणों के साथ मिलकर सोमवार को प्रदेश कांग्रेस सचिव पुनीत शर्मा ने विरोध किया तो नायब तहसीलदार विवेक सोनी व पीएचई के अधिकारी मौके पर पहुंचे थे।

पीएचई ने नदी के पानी का पांच स्थानों से सैंपल लिया और महू गांव स्थित लैब में जांच करवाई। पीएचई के सहायक यंत्री राजेश उपाध्याय ने बताया कि सैंपल की जांच में आया है कि नदी का पानी दूषित है और पीने योग्य नहीं है। इसमें कौन-से केमिकल मिलाए हैं यह साफ नहीं हुआ है। नायब तहसीलदार सोनी ने बताया कि जांच में पानी पीने योग्य नहीं मिला है। हमने प्रतिवेदन बनाकर एसडीएम को भेजा है।

कार्रवाई की जाएगी

प्रतिवेदन मिला है, उसकी जांच करवाई जाएगी कि नदी में केमिकल कहां पर मिलाया गया है और किसने मिलाया है। इस आधार पर आरोपियों का पता कर उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
अभिलाष मिश्रा, एसडीएम

खबरें और भी हैं...