पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

स्वास्थ्य सुविधा:सेंट्रल ऑक्सीजन लाइन का काम अंतिम चरण में लेकिन वार्ड संचालित करने की सामग्री नहीं आई

महूएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • मध्यभारत के नए मेटरनिटी भवन में काेविड सेंटर 30 दिन में बनना था, एक माह और लगेगा

तहसील में बढ़ते काेराेना संक्रमण के केसाें के देखते हुए प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग ने मध्यभारत अस्पताल के नए मैटरनिटी भवन काे अस्थाई काेविड केअर सेंटर के रूप में विकसित करने का काम शुरू किया। इसमें पूरे भवन में सेंट्रल ऑक्सीजन लाइन डालने का काम चल रहा था। यह काम लगभग पूरा हाे चुका है। लेकिन अस्पताल संचालन के लिए जाे अन्य सामग्री लगनी है। वह कब मिलेगी इस पर स्थिति स्पष्ट नहीं हुई है। जिसके चलते यह सेंटर शुरू हाेने में एक माह और देरी हाेने की संभावना जताई जा रही है।

यहां तहसील के सबसे बड़े शासकीय अस्पताल में 56 बिस्तराें के नए मेटरनिटी भवन काे तैयार किया जा रहा था। तहसील में बढ़ते काेराेना संक्रमण केसाें के चलते मरीजाें काे इंदाैर रैफर ना करना पड़े। इसके लिए प्रशासन इस भवन में अस्थाई काेविड केअर सेंटर बना रहा था। इसके लिए 56 बिस्तराें के लिए सेंट्रल ऑक्सीजन लाइन डालने का काम 25 दिनाें से चल रहा है जो अंतिम चरण में है।

लेकिन सेंटर के संचालन के लिए लगने वाली सामग्री काे लेकर स्थानीय स्वास्थ्य विभाग ने जिला स्वास्थ्य विभाग से मांग की है। लेकिन अभी तक वहां से सामग्री देने काे लेकर जवाब नहीं मिला है। इसके अलावा निर्माणधीन इमारत भी अभी अस्पताल के हैंडओवर नहीं हुआ है। इसलिए भी स्थानीय अस्पताल प्रबंधन अभी किसी भी कार्य काे करने में जल्दबाजी नहीं बरत रहा है।

सेंटर के लिए ये जरूरी
यहां काेविड केअर सेंटर संचालन के लिए ऑक्सीजन लाइन ताे डल रही है। लेकिन इसके अलावा अस्पताल में चिकित्सक, पैरामेडिकल स्टाॅफ सहित अनेक उपकरण की जरूरत हाेगी। इसकाे लेकर स्थानीय अस्पताल प्रबंधन ने जिला स्वास्थ्य विभाग से 6 चिकित्सक, 8 नर्स, 12 वार्ड बाय, 15 सफाई कर्मचारी, बिस्तर, लाॅकर, ट्राली, चेअर आदि की मांग की है।

कम आ रहे काेराेना संक्रमित इसलिए प्रशासन का फाेकस भी कम
तहसील में सितंबर में लगातार हर दिन 25 से ज्यादा काेराेना संक्रमित मरीज मिले रहे थे। जिसके चलते इंदाैर के अस्पतालाें में जगह नहीं हाेने से तहसील के मरीजाें काे अस्पताल नहीं मिलने से उपचार की दिक्कत आ रही थी। इसी काे देखते हुए प्रशासन ने काेविड सेंटर बनाने का निर्णय लिया था। अभी पिछले 15 दिनाें से संक्रमित मरीज मिलने की दर में गिरावट आई है। इस वजह से भी संभवत: प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग का अब इस कार्य में फाेकस कम नजर आ रहा है।

सामग्री के लिए पत्र भेजा है
^ऑक्सीजन लाइन का काम अंतिम चरण में चल रहा है। हालांकि अभी बिल्डिंग हमारे हैंडओवर नहीं हुई है। वहीं हमनें काेविड सेंटर संचालन के लिए जिला स्वास्थ्य विभाग से विभिन्न उपकरण मांगे हैं। इसकाे लेकर दाे बार पत्र भी भेज दिया है। काेविड सेंटर कब शुरू हाेगा इस बारे में अभी कुछ भी नहीं कह सकता हूं।
डाॅ. एचआर वर्मा, अस्पताल प्रभारी

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- घर के बड़े बुजुर्गों की देखभाल व उनका मान-सम्मान करना, आपके भाग्य में वृद्धि करेगा। राजनीतिक संपर्क आपके लिए शुभ अवसर प्रदान करेंगे। आज का दिन विशेष तौर पर महिलाओं के लिए बहुत ही शुभ है। उनकी ...

और पढ़ें