पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Mhow
  • Crowd Increased, They Will Send Devotees By 4 4 To The Main Gate, The Exit Will Be Done From The Back Gate If Needed

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

महाष्टमी आज:भीड़ बढ़ी ताे मुख्य गेट पर श्रद्धालुओं काे राेककर 4-4 करके भेजेंगे, जरूरत पड़ी ताे पीछे वाले गेट से हाेगी एक्जीट

महूएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सात रास्ता स्थित अतिप्राचीन काली माता मंदिर में रात 12 बजे हाेगी महाआरती, छप्पन भाेग भी लगेगा

शहर में काेराेनाकाल के बीच नवदुर्गा का महाष्टमी पर्व मनाया जाएगा। इस दाैरान सात रास्ता स्थित अतिप्राचीन काली माता मंदिर पर दर्शन करने वाले श्रद्धालुओं के लिए मंदिर समिति द्वारा विशेष व्यवस्था की जाएगी। यहां मंदिर में शाम के समय अगर भीड़ बढ़ी ताे श्रद्धालुओं काे मुख्य गेट पर राेककर चार-चार करके भेजा जाएगा। इसके अलावा अगर जरूरत पड़ी ताे पीछे वाले गेट से भी श्रद्धालुओं काे एक्जीट किया जाएगा।

शहर के अतिप्राचीन काली माता मंदिर पर महाष्टमी के दिन बड़ी संख्या में श्रद्धालु दर्शन के लिए सुबह से ही पहुंचते हैं। इस बार काेराेना महामारी के लिए मंदिर समिति द्वारा श्रद्धालुओं के दर्शन के लिए विशेष व्यवस्था की गई है। यहां मंदिर के प्रांगण में दिनभर में हर दाे से तीन घंटे के अंतराल में सैनिटाइज किया जाएगा। बगैर मास्क के श्रद्धालुओं काे प्रवेश भी नहीं दिया जाएगा।

इसके अलावा मंदिर में शाम के समय अधिक भीड़ बढ़ने पर मुख्य गेट पर ही श्रद्धालुओं काे राेककर चार-चार करके प्रवेश दिया जाएगा। वहीं रात काे 12 बजे मंदिर में परंपरानुसार महाआरती हाेगी। इस दाैरान श्रद्धालुओं काे मंदिर प्रांगण में दाे गज की दूरी बनाकर ही खड़ा किया जाएगा। वहीं जैसे ही प्रांगण भर जाएगा। उसके बाद मंदिर के बाहरी हिस्से में श्रद्धालुओं काे खड़ा किया जाएगा।

पहली बार ऐसा छप्पन भाेग : थालियाें की बजाए डिब्बाें में रखा जाएगा भाेग
यहां मंदिर में महाष्टमी पर्व पर हर बार अक्षय अग्रवाल द्वारा छप्पन भाेग लगाया जाता है। इस बार भी महाष्टमी पर यह भाेग लगाया जाएगा। लेकिन काेराेना महामारी के चलते इस बार भाेग लगाने की प्रक्रिया में बदलाव रहेगा। इसमें सभी प्रकार के भाेग थालियाें में जमाने की बजाय सीधे डिब्बे में ही जमाए जाएंगे। वहीं यह डिब्बे ऊपर से जिलेटिन के जरिए ट्रांसपरेंट रहेंगे। वहीं मंदिर में प्रांगण में किसी भी तरह की प्रसादी का वितरण नहीं किया जाएगा।

कैला माता समिति 1100 की बजाय 151 दीप ही जलाएगी, छप्पन भाेग नहीं लगेगा
यहां गाेकुलगंज में कैला माता समिति द्वारा हर बार महाष्टमी पर्व पर 1100 दीपाें काे जगमग किया जाता है। समिति के पवन अग्रवाल ने बताया समिति द्वारा यहां 1100 दीप जलाए जाते थे, इस बार काेराेना महामारी के चलते सिर्फ 151 दीप ही जलाए जाएंगे। वहीं पांडाल में छप्पन भाेग भी नहीं लगाया जा रहा है। मार्केट चाैक स्थित नवदुर्गा मित्र मंडल द्वारा पांडाल के बाहर अष्टमी पर भी दीप जलाए जाएंगे। इसके अलावा माेती चाैक पर भाेलेनाथ की झांकी नहीं बनाई जा रही है। वहीं हरिफाटक पर भी इस साल झांकी का निर्माण नहीं किया जा रहा है।

सागौर: 151 फीट लंबी चुनरी की यात्रा निकली

शुक्रवार को संस्था राधे ने नृसिंह मंदिर से 151 फीट लंबी चुनरी की यात्रा निकाली। यात्रा पहले वाहन से छोटी सागौर स्थित शीतला माता मंदिर पहुंची, यहां से पैदल कालिका माता मंदिर पहुंची। यहां चुनरी चढ़ाई गई। संस्था के राजेश चौधरी, पूर्व नगर पालिका उपाध्यक्ष रामनारायण चौधरी, नाथू बालोदिया आदि ने चुनरी पूजा की। यात्रा में देवेंद्र गुप्ता, जगदीश बैरागी, धीरेंद्र रघुवंशी, अर्जुन धाकड़, जितेंद्र शर्मा, उद्योगपति सुभाष भंडारी आदि मौजूद रहे।

देपालपुर : सुबह-शाम आरती, कार्यक्रम सारे निरस्त
विजयस्तंभ चौक पर मां की प्रतिमा विराजित की गई है। यहां सुबह-शाम आरती की जा रही है। इस बार नवमी पर होने वाले सारे कार्यक्रम निरस्त कर दिए हैं। यहां नि:स्वार्थ सेवा देने वाले रूपचंद जैन काकाजी ने बताया यहां माताजी की प्रतिमा 48 साल से विराजित की जा रही है। यहां कोविड के नियमों का पूरा पालन भक्तों से करवाया जा रहा है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज व्यक्तिगत तथा पारिवारिक गतिविधियों के प्रति ज्यादा ध्यान केंद्रित रहेगा। इस समय ग्रह स्थितियां आपके लिए बेहतरीन परिस्थितियां बना रही हैं। आपको अपनी प्रतिभा व योग्यता को साबित करने का अवसर ...

और पढ़ें