पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Mhow
  • Even In 10 Days, No Passengers Were Found, So Only 25 Out Of 82 Buses Came On The Route, They Are Also Running At A Loss.

उपनगरीय बस सेवा:10 दिन में भी यात्री नहीं मिले इसलिए अभी 82 में से 25 बसें ही रूट पर अाईं, वे भी नुकसान में चल रहीं

महू9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • बस स्टैंड पर एक बस काे पूरी तरह भरने में लग रहे 45 से 50 मिनट

महू-इंदाैर-पीथमपुर व मानपुर के बीच चलने वाली उपनगरीय बसाें काे लाॅकडाउन के बाद से शुरू हुए दस दिन हाे गए। लेकिन अभी भी यात्रियाें का दबाव नहीं हाेने से ये बसें कुल क्षमता से नहीं चल रही है। इस रूट पर अभी वर्तमान में 82 में से सिर्फ 25 बसें ही चल रही है। वहीं बसाें की स्थिति यह है कि एक बस दिन में तीन फेरे लेती थी। वह यात्रियाें का दबाव नहीं हाेने से एक फेरा ही ले पा रही है। बस स्टैंड पर दस दिनाें से सुबह 6 बजे से उपनगरीय बसें संचालन के लिए पहुंच जाती है। लेकिन पहली बस काे ही भरने में करीब 45 से 50 मिनट का समय लग रहा है। जिसके कारण यहां बस स्टैंड पर वेटिंग के चलते बसाें की कतार लग जाती है।

बस संचालन करने वाले राेहित काैशल ने बताया कि 32 सीटर बस काे भरने के लिए 45 से 50 मिनट यात्रियाें का इंतजार करने के बावजूद भी बस पूरी क्षमता से नहीं भर पा रही है। जिसके चलते मजबूरी में 25 सवारी के साथ ही बसें चलाना पड़ रही है। इसी वजह से जाे हमारी एक बस दिन में चार फेरे लेती थी वह अब दिन में एक फेरा ही ले पा रही है। ऐसा सभी माेटर मालिकाें के साथ हाे रहा है। अभी हम सभी ने यह तय किया है कि अगर बसें 15 मिनट में ना भरी ताे भी स्टैंड काे छाेड़ना ही पड़ेगा। रास्ते की सवारी के साथ ही काम चलाना पड़ेगा। वहीं अगर ऐसी ही स्थिति रही ताे बसें फिर से बंद हाे सकती है।

अपडाउनर्स ने खुद के निजी साधन जुगाड़ लिए
बसाें में यात्रियाें का दबाव कम हाेने की वजह माेटर मालिकाें ने बताई की अनलाॅक के बाद भी प्रशासन ने बसाें के संचालन में काफी देरी की। जिसके चलते नाैकरी पेशा वर्ग के जाे डेली अपडाउनर्स बसाें में जाते थे। उन्हाेंने बसें बंद हाेने से खुद के निजी साधनाें की व्यवस्था कर ली।

अब बसें शुरू हाेने के बाद भी वह अपने निजी साधनाें से ही आवाजाही कर रहे हैं। वह उपनगरीय बसाें में नहीं आ रहे हैं। उपनगरीय बस ऑनर्स एसाेसिएशन के अध्यक्ष गाेविंद शर्मा का कहना है कि यात्रियाें का दबाव पहले जैसा नहीं है। माेटर मालिकाें काे बहुत नुकसान हाे रहा है। रास्ते में टाेल भी लग रहा है। ऐसा कुछ दिन और चला ताे फिर से बसें बंद करना मजबूरी हाे जाएगी।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप भावनात्मक रूप से सशक्त रहेंगे। ज्ञानवर्धक तथा रोचक कार्यों में समय व्यतीत होगा। परिवार के साथ धार्मिक स्थल पर जाने का भी प्रोग्राम बनेगा। आप अपने व्यक्तित्व में सकारात्मक रूप से परिवर्तन भ...

और पढ़ें