पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जमीनी विवाद:प्रशासन ने पुजारी आशीष को कब्जा दिया, दुर्गाबाई पुरी ने की कोर्ट जाने की तैयारी

बनेड़ियाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • मंदिर की 32 बीघा जमीन को लेकर विवाद, लाखों रु. सालाना आय होती है

मठ के नाम से ख्यात महादेव मंदिर की जमीन पर बने मकान की मरम्मत पर प्रशासन ने रोक लगाने के बाद मंदिर से जुड़ी संपत्ति का पूरा कब्जा पुजारी आशीष भारती को सौंप दिया है। साथ ही उन्होंने हिदायत दी कि मकान की मरम्मत कर रही दुर्गाबाई अब किसी भी तरह से यहां हस्तक्षेप नहीं करें।

इस पर दुर्गाबाई का कहना है कि मेरा परिवार पीढ़ियों से पूजा करता आ रहा था और यह हक पाने के लिए मैं कोर्ट जाऊंगी। विवाद मंदिर की 32 बीघा जमीन को लेकर हो रहा है इससे लाखों की सालाना आय होती है।

मंगलवार को देपालपुर तहसीलदार बजरंग बहादुर सिंह, थाना प्रभारी मीणा कर्णावत, सब इंस्पेक्टर दीपक राठौर, कस्बा पटवारी अजय पाल मौके पर पहुंचे और वर्तमान नियुक्ति के आधार पर महादेव मंदिर के पुजारी आशीष भारती को कब्जा दिया। वहीं दुर्गाबाई को मंदिर को लेकर किसी भी तरह का हस्तक्षेप नहीं करने की हिदायत दी। दुर्गाबाई चाहे तो मामले में कोर्ट जा सकती है।

पुजारी आशीष की नियुक्ति सेटिंग से हुई है : दुर्गा पुरी

दुर्गाबाई पुरी का कहना है कि पुजारी आशीष भारती की नियुक्ति सेटिंग से हुई है। मामले में सीएम से शिकायत करूंगी और कोर्ट जाऊंगी। मेरे पिता किशन महाराज के साथ ही उनका परिवार सालों से यहां पूजा करता आ रहा है। मंदिर परिसर के जिस मकान की वह मरम्मत करवा रही थी उसकी रजिस्ट्री भी मेरे पास है। पुजारी आशीष की नियुक्ति के दस्तावेज इकट्ठा कर मैं कोर्ट जाऊंगी।

प्रशासन ने मुझे पुजारी नियुक्त किया है : भारती

पुजारी आशीष भारती ने बताया प्रशासन ने मुझे पुजारी नियुक्त है और मैं पूरी तन्मयता से उसका पालन कर रहा हूं। मंदिर परिसर मेंं अवैध निर्माण किया जा रहा था और उसकी शिकायत करना मेरा काम था इसलिए शिकायत की।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- यह समय विवेक और चतुराई से काम लेने का है। आपके पिछले कुछ समय से रुके हुए व अटके हुए काम पूरे होंगे। संतान के करियर और शिक्षा से संबंधित किसी समस्या का भी समाधान निकलेगा। अगर कोई वाहन खरीदने क...

और पढ़ें