पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हत्याकांड का खुलासा:मछली पकड़ने काे लेकर था विवाद, भाई ने ही साथी के साथ मिलकर कर दी हत्या

महू15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कालाकुंड की नदी में मिले शव के मामले में हत्या करने वाले आराेपी। - Dainik Bhaskar
कालाकुंड की नदी में मिले शव के मामले में हत्या करने वाले आराेपी।
  • कालाकुंड स्टेशन के पीछे नदी में मिला था शव
  • शव मिलने वाले स्थान पर माेबाइल काम नहीं करता, इसलिए मुखबिराें से हुआ हत्या का खुलासा

कालाकुंड रेलवे स्टेशन के पीछे नदी में मिले शव के मामले की गुत्थी सुलझ गई है। इसमें मृतक के भाई ने ही अपने एक साथी के साथ मिलकर हत्या की वारदात काे अंजाम दिया व उसके बाद शव काे नदी में फेंका था। इस घटना की गुत्थी काे पुलिस ने मुखबिराें के माध्यम से सुलझाया। क्योंकि जहां घटनास्थल था। वहां ना ताे सीसीटीवी फुटैज का सहारा था ना ही माेबाइल नेटवर्क आदि थे।

एएसपी पुनीत के गेहलाेद ने बताया कि यहां कालाकुंड रेलवे स्टेशन के पीछे नदी में रविवार काे पुलिस ने सेवाराम काेहली का शव बरामद किया था। शव के हाथ व चेहरे पर गंभीर चाेट के निशान हाेने से मामला हत्या का लग रहा था। जिसके बाद एसडीओपी अजय वाजपेयी व सिमराेल थाना प्रभारी धर्मेंद्र शिवहरे के नेतृत्व में टीम का गठन कर जांच शुरू की।

इस मामले में पुलिस काे घटना स्थल पर किसी तरह के सीसीटीवी फुटैज व माेबाइल नेटवर्क आदि का सहारा नहीं मिल पा रहा था। जिसके बाद पुलिस ने अपने मुखबिराें काे अलर्ट किया। जिसके बाद यह जानकारी मिली की मृतक सेवाराम का पूरे क्षेत्र में नदी से मछली पकड़ने काे लेकर खासा दबदबा था।

जिसके चलते गांव के अन्य लाेग मछली पालन का काम नहीं कर पा रहे थे। इसकाे लेकर मृतक का कुछ दिन पूर्व भी विवाद हुआ था। इसी के चलते पुलिस ने मुखबिराें से मिले क्लू के आधार पर मृतक के सगे भाई रमेश काेहली काे उठाया। इससे जब पूछताछ की ताे इसने अपने साथी छितरसिंह के साथ मिलकर भाई की हत्या करना कबूली।

जिसके बाद पुलिस ने छितरसिंह काे भी गिरफ्तार किया। दाेनाें बताया कि वारदात वाले दिन वह मृतक सेवाराम के साथ मछली पकड़ने गए थे। इस दाैरान ही दाेनाें ने माैका देखकर सेवाराम पर कुल्हाड़ी से हमला कर उसकी हत्या की। पुलिस ने इस मामले में वारदात में उपयाेग की गई कुल्हाड़ी भी जब्त कर ली है।

भास्कर ने पहले ही जताया था अंदेशा, मछली पकड़ने के पीछे हुई हत्या

घटना के बाद भास्कर ने साेमवार काे इस मामले में मछली पकड़ने के मामले में ही हत्या हाेने का अंदेशा जताया था। अब पुलिस ने भी अपने खुलासे में बताया है कि मृतक का मछली पकड़ने काे लेकर एकाधिकार था। इस एकाधिकार काे खत्म करने के लिए ही सगे भाई ने अपने साथी के साथ मिलकर हत्या की इस वारदात काे अंजाम दिया, ताकि सेवाराम का मछली पकड़ने का दबदबा खत्म हाे सके।

खबरें और भी हैं...