पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

गुरुनानकदेवजी का 551वां प्रकाश पर्व:बेटमा साहिब में इस बार स्वर्ण मंदिर पंजाब से नहीं आएंगे रागी जत्थे, मास्क की व्यवस्था रहेगी

बेटमा-महू2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • यहां 6 माह रुके थे गुरुनानकदेवजी

गुरुनानकजी का 551वां प्रकाश पर्व 30 नवंबर को है। यहां 10 एकड़ में फैले बेटमा साहिब और चरण पादुका साहिब गुरुद्वारा में देशभर से मत्था टेकने आते हैं सिख समाजजन लेकिन इस बार कोरोना संक्रमण के चलते भीड़ कम रहने की संभावना है।

इस बार यहां पंजाब के अमृतसर में स्थित स्वर्ण मंदिर, दिल्ली के शीशगंज साहेब सहित देश के अन्य हिस्सों से यहां कीर्तन गाने के लिए आने वाले रागी जत्थे नहीं बुलाए गए हैं। यहां किसी को भी बिना मास्क के प्रवेश नहीं दिया जाएगा। यहां मास्क की भी व्यवस्था की गई है। संगत से लेकर लंगर तक में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करवाया जाएगा।

हर बार यहां प्रकाश पर्व पर 30 हजार से ज्यादा श्रद्धालु आते हैं लेकिन इस बार कोरोना संक्रमण के चलते कम लोग आने की संभावना है। इस बार स्वर्ण मंदिर अमृतसर से रागी नहीं बुलाए हैं ताकि उनका कीर्तन सुनने के लिए ज्यादा भीड़ नहीं लगे।

गुरुनानकजी के जन्मदिन को मनाते हैं प्रकाश पर्व के रूप में : गुरुनानकजी का जन्म 1469 में तलवंडी नामक स्थान पर हुआ था। यह स्थान वर्तमान में पाकिस्तान में है, जिसे ननकाना साहिब के नाम से जाना जाता है।

गुरुनानकदेवजी ने बावड़ी के खारे पानी को कर दिया था मीठा : समाज के पुरातन ग्रंथ तवारीख गुरु खालसा के अनुसार 1517 में इंदौर जिले के बेटमा में छह महीने तक रुके थे। इस दौरान बेटमा की संगत ने पीने के पानी की बावड़ी का पानी खारा होने की समस्या बताई तो उन्होंने बावड़ी का पानी मीठा कर पीने योग्य बना दिया था। इस बावड़ी से आज भी लोग पानी पीने के लिए लेकर जाते हैं।

बेटमा साहिब गुरुद्वारा के प्रवक्ता देवेंद्रसिंह गांधी बताते हैं गुरुनानकजी ने जिस बावड़ी का पानी मीठा किया उसे बावड़ी साहिब और जहां गुरुनानकदेवजी अपनी चरण पादुका रख आराम करते थे, उसे चरण पादुका साहिब कहा जाता है। यहां 25 करोड़ की लागत से विकास कार्य भी किए जा रहे हैं।

लंगर हाॅल में 10 हजार श्रद्धालु कर सकते हैं लंगर : यहां 20 हजार स्कवेयर फीट का लंगर हाॅल है, जो मप्र का सबसे बड़ा लंगर हाॅल है। यहां एक बार में 10 हजार श्रद्धालु लंगर कर सकते हैं। इस बार यहां हर श्रद्धालु को दो गज दूर बैठाकर लंगर करवाया जाएगा। यहां का लंगर 365 दिन 24 घंटे चालू रहता है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- व्यस्तता के बावजूद आप अपने घर परिवार की खुशियों के लिए भी समय निकालेंगे। घर की देखरेख से संबंधित कुछ गतिविधियां होंगी। इस समय अपनी कार्य क्षमता पर पूर्ण विश्वास रखकर अपनी योजनाओं को कार्य रूप...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser