इंदौर में इंटरनेट पर फ्रेंडशिप, मिला धोखा:देहरादून के युवक से सोशल मीडिया पर हुई दोस्ती, नेवी ऑफिसर बनने के नाम पर नर्स से ठगे 10 लाख रु., नौकरी छूटते ही नाता तोड़ा

इंदौरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

इंदौर के महू में रहने वाली युवती से देहरादून के रहने वाले युवक ने सोशल मीडिया पर दोस्ती की। इसके बाद कभी जिम में बॉडी बनाने तो कभी नेवी अफसर बनने के नाम पर डेढ़ साल में 10 लाख रुपए ठग लिए। युवती निजी अस्पताल में नर्स थी। कुछ समय पहले नौकरी छूटी, तो युवती ने रुपए वापस मांगे। इस पर युवक ने उससे नाता तोड़ लिया। इसके बाद युवती ने थाने में शिकायत दर्ज कराई।

जांच अधिकारी देवेश पाल के अनुसार महू की रहने वाली कनिष्का गोयल (29) ने सोमवार देर रात देहरादून उत्तराखंड के रहने वाले रोहित पुत्र हुकुम सिंह पटेल के खिलाफ धोखाधड़ी व अन्य धाराओं में मामला दर्ज कराया गया है। पीड़िता ने बताया कि फरवरी 2020 में इंटरनेट के माध्यम से राेहित से उसकी पहचान हुई थी। इसके बाद दोनों में बातचीत होने लगी। उस वक्त युवती प्रधानमंत्री कौशल योजना व निजी अस्पताल में नर्स थी।

कनिष्का 30 से 35 हजार रुपए प्रति माह कमाती थी। इस कारण से रोहित कई बार युवती से रुपए की मांग करता था। कभी वह कहता था कि उसे नेवी ऑफिसर बनना है। कभी जिम में बॉडी बनाने के नाम पर रुपए मांगता था। युवती को झांसा देकर कई बार रोहित ने रुपए ऑनलाइन ट्रांसफर करवाए थे।

युवती रोहित से मिलने के लिए कई बार देहरादून भी जा चुकी है। वह उत्तराखंड और गोवा घूमने भी गए थे। रोहित ने युवती को इतना अधिक प्रभावित कर रखा था कि जब भी वह रुपए मांगता, वह तुरंत दे देती थी। कुछ समय पहले कोरोना काल में कनिष्का की नौकरी छूट गई। इसके बाद उसने रोहित से मदद मांगी, लेकिन रोहित ने बात करना बंद कर दिया। युवती ने रोहित के खिलाफ धोखाधड़ी, अमानत में खयानत और धमकाने का मामला दर्ज कराया है।

खबरें और भी हैं...