• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • 12 New Dengue Cases Were Found In Indore, The Number Of Patients Reached 427, Two Children Of 7 Years Were Affected In Vijay Nagar Area, Patients Found In Mahalakshmi And Sudama Nagar

इंदौर में डेंगू का डंक:12 नए केस मिले, मरीजों का आंकड़ा 427 पहुंचा, विजय नगर इलाके में 7 साल के दो बच्चे चपेट में, महालक्ष्मी और सुदामा नगर में भी मिले मरीज

इंदौर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक चित्र - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक चित्र

इंदौर में बुधवार को डेंगू के 12 नए मरीज मिले हैं। इनमें दो 7 वर्षीय बच्चे भी शामिल हैं। इनके सहित अब श् कुल डेंगू के मरीजों की संख्या 427 हो गई है। जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. दौलत पटेल के मुताबिक इनमें एक्टिव मरीज 17 हैं, जबकि 13 मरीज भर्ती हैं। जिन क्षेत्रों में डेंगू के मरीज मिले हैं, उनमें महालक्ष्मी, साकेत धाम, महेश गार्ड लाइन, सुदामा नगर, विजय नगर, श्री राम नगर, सत्यम विहार, अग्रवाल नगर, पंचवटी कॉलोनी, वंदना नगर व साईं कृपा कॉलोनी आदि के रहवासी हैं। इन जगहों पर लार्वा सैंपल लेने के साथ टीमें छिड़काव में जुटी हैं। खास बात यह कि इनमें कई कॉलोनियों तो पॉश क्षेत्र में हैं, लेकिन घर परिसर के गमलों, छतों पानी जमाव के कारण लोग डेंगू की चपेट में आए।

पिछले दिनों में वंदना नगर, सुदामा नगरा, ग्राम मुंडला व बदनावर मरीज मिले थे। फिर कैट कॉलोनी, नंदबाग, आजाद नगर, अवंतिका नगर, हिम्मत नगर, पवनपुरी, बर्फानी धाम, आदर्श बिजासन नगर, श्रवण बाग कॉलोनी, भागीरथपुरा, मौर्य नगर, विद्या नगर, श्रीबाल गर्ल्स होस्टल आदि क्षेत्रों में मरीज मिले। ऐसे ही पिछले हफ्ते राजेंद्र नगर, क्लर्क कॉलोनी, सांई सिटी, स्कीम 78, न्यू गौरी नगर, स्कीम 134, सांई सिटी, ओल्ड पलासिया, शुभम पैलेस, खातीवाला टैंक, स्कीम 51, महालक्ष्मी नगर, साउथ तुकोगंज, सहज हॉस्पिटल, शिव सिटी, गृह नगर होस्टल, आरएपीटीसी, ब्रह्मपुरी, पीपल्याराव, आनंदपुरी, गणेश नगर, आनंदपुरी, खंडवा नाका, एलआईजी व तलावली चांदा में मिले नए मरीज मिले थे।

जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. दौलत पटेल ने बताया कि पॉश क्षेत्रों में भी लोगों के घरों के गमले, बगीचों आदि में पानी जमा पाया गया। वर्तमान में 13 मरीज भर्ती हैं। सभी की हालत ठीक है।

विभाग द्वारा जारी किए गए आंकड़े
विभाग द्वारा जारी किए गए आंकड़े

बचाव के तरीके

- मच्छरों को दूर रखने के लिए मच्छर भगाने वाले रिपेलेंट, क्रीम, कॉइल और स्प्रे का इस्तेमाल करें।

- खिड़की और दरवाजों को सुरक्षित करें या यदि आवश्यक हो तो मच्छरदानी का उपयोग करें।

- यदि संभव हो तो एयर कंडीशनिंग घर के अंदर इस्तेमाल करें।

बरसात का पानी भी जमा नहीं होने दें

- डेंगू जमे हुए पानी में पनपने वाले मच्छरों के काटने से होता है, जबकि डेंगू एडीज इजिप्टी (मादा मच्छर) के काटने से फैलता है। यह बुखार मच्छरों द्वारा फैलाई जाने वाली बीमारी है। यह स्थिति तब बनती है, घरों में या आसपास एक ही स्थान पर बहुत दिनों से पानी जमा हो। जैसे कूलर, वॉश एरिया, सिंक, गमलों आदि भी कई बार पानी जमा रहता है, जो डेंगू का कारक बनता है।

- लोगों से अपील की गई है कि हाल ही में बारिश हुई है, जिससे घरों के आसपास कई स्थानों पर पानी जमा हो जाता है। इसे भी जमा नहीं होने दें। निकासी का प्रबंध करें।

- एडीज मच्छर पानी जमाव होने की स्थिति में सक्रिय हो जाते हैं। इन मच्छरों की प्रकृति यह है कि ये दिन में ही काटते हैं।

- फिर कुछ समय बाद इसकी चपेट में आए लोगों को तेज बुखार, शरीर पर लाल चकत पड़ना, सिर, हाथ-पैर और बदन में तेज दर्द, भूख न लगना, उल्टी-दस्त, गले में खराश, पेट में दर्द और लिवर में सूजन आदि लक्षण दिखते हैं।

- ऐसे में संबंधित व्यक्ति को तुरंत डॉक्टरों को दिखाना चाहिए। इसके बाद ब्लड टेस्ट में इसकी जांच होती है, जिसमें पुष्टि होती है कि उसे डेंगू है या दूसरी बीमारी।

खबरें और भी हैं...