पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

एसटीपी का पानी साफ:कान्ह-सरस्वती पर बनेंगे 12 स्टॉपडैम, ऑक्सीजन बढ़ेगी

इंदौर24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • बीओडी लेवल 16 पर आया, 10 से कम होने पर आ जाती हैं मछलियां

दो माह से लागू कोरोना कर्फ्यू का एक सुखद पहलू सामने आया। कान्ह-सरस्वती को रिचार्ज रखने के लिए बनाए गए सभी एसटीपी से निकलने वाला पानी बिलकुल साफ हो गया है। ऑक्सीजन की मात्रा बढ़ाने के लिए दोनों नदियों पर 12 से ज्यादा स्टॉपडैम बनाने की तैयारी है। कर्फ्यू के कारण इंडस्ट्रियल वेस्ट और होटलों से आने वाला सीवेज बहुत कम रहा। नए एसटीपी बिजलपुर, प्रतीक सेतु, नहर भंडारा, राधा स्वामी, सीपी शेखर नगर, पीपल्याहाना और आजाद नगर में बैक्टीरिया डेवलप होने का पूरा समय मिल गया। इससे शुरुआती दौर में आने वाले झाग की मात्रा 90 प्रतिशत कम हो गई।

सबसे साफ पानी प्रतीक सेतु और नहर भंडारा में आ रहा है। सभी एसटीपी की व्यवस्था देख रहे नगर निगम के इंजीनियर आकाश जैन ने बताया कि इन दोनों एसटीपी से निकलने वाले पानी का बीओडी लेवल 16 पर आ गया है। बीओडी लेवल 10 से कम होने पर मछलियां पानी में आ जाती हैं।

नर्मदा के पानी से ज्यादा हो गई एसटीपी की क्षमता

इंदौर में नर्मदा के तीनों चरणों से कुल 450 एमएलडी पानी आता है। जबकि इंदौर में कुल 11 एसटीपी और ईटीपी हो गए हैं। इनकी क्षमता 467.5 एमएलडी हो गई है। अभी बिजलपुर एसटीपी से 2.5 एमएलडी, प्रतीक सेतु से 8 एमएलडी, नहर भंडारा पर 11 एमएलडी, सीपी शेखर नगर में 10 एमएलडी, राधा स्वामी प्लांट से 6 एमलडी और आजाद नगर से 17 एमएलडी पानी छोड़ा जा रहा है।

खबरें और भी हैं...