• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • 12 year old Avi Wrote Balmukhi Ramayana In 250 Verses, 14 year old Palak Won 22 National Medals, Received National Child Award

ये इंदौर के बच्चे हैं:12 वर्ष के अवि ने 250 छंदों में लिखी बालमुखी रामायण, 14 साल की पलक ने जीते 22 नेशनल मेडल, मिले राष्ट्रीय बाल पुरस्कार

इंदौर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अवि शर्मा। - Dainik Bhaskar
अवि शर्मा।
  • हरदा और अनूपपुर के बच्चों को भी पुरस्कार

सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इंदौर के दो बच्चों को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार से सम्मानित किया। अवि शर्मा को शैक्षिक उपलब्धि (साल 2022) के लिए तो पलक शर्मा को खेल श्रेणी (साल 2021) के लिए यह पुरस्कार दिया गया। हरदा और अनूपपुर के बच्चों को भी सम्मानित किया गया है।

इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि यह मध्यप्रदेश की भूमि का असर है कि यहां प्रतिभाएं बाल्यकाल से ही निखरती हैं। पीएम ने 21 राज्यों के 29 बच्चों को ब्लॉक चेन तकनीक के जरिए प्रशस्ति पत्र और 1 लाख रुपए की राशि बैंक में ट्रांसफर कर पुरस्कृत किया।

अवि शर्मा- बच्चों को मोटिवेट भी करते हैं, पीएम ने पूछा- आप में बचपन बचा है क्या

12 वर्ष के अवि शर्मा ने 250 छंदों की बालमुखी रामायण लिख डाली। इसके साथ ही बच्चों को मोटिवेशन का काम भी किया। पुरस्कार देते वक्त प्रधानमंत्री मोदी ने अवि से पूछा कि आपने तो बाल रामायण भी लिखी है और बच्चों को भी पढ़ाते हो, व्याख्यान भी करते हो तो क्या अभी भी आप में बचपन बचा है।

इस पर अवि ने कहा कि पौराणिक कथाएं देख-सुनकर मेरी रुचि इसमें बढ़ी। इस पर प्रधानमंत्री ने पूछा कि इसकी प्रेरणा कहां से मिली? अवि ने इसका श्रेय भी प्रधानमंत्री को दिया। कहा कि साल 2020 में लॉकडाउन के दौरान आपने रामायण का री-टेलीकास्ट करवाया। उसी से बालमुखी रामायण लिखने की प्रेरणा मिली।

पलक शर्मा : एशियन एज ग्रुप में स्वर्ण जीतने वाली सबसे कम उम्र की गोताखोर

14 साल की पलक ने वर्ष 2019 में एशियन एज ग्रुप चैंपियनशिप में एक स्वर्ण और दो रजत पदक जीतकर भारत का नाम रोशन किया था। इस स्पर्धा में स्वर्ण पदक वाली पलक अब तक की सबसे कम उम्र में गोताखोर भी बनी थीं। पलक ने कहा, खेल पर फोकस के लिए बॉयकट हेयर स्टाइल रखती हूं।

लड़कियों को बाल संवारना पसंद होता है, लेकिन बाॅयकट हेयरस्टाइल से मेरा फोकस बना रहता है। वहीं डाइविंग करने में भी आसानी होती है। मैं जब तीसरी कक्षा में पढ़ती थी, तभी से गोताखोरी से जुड़ी। रोज कुल आठ घंटे अभ्यास करती हूं। इसमें शारीरिक व्यायाम भी शामिल है। अभ्यास के बाद बचे समय में पढ़ाई करती हूं।

21 राज्यों के 29 होनहार; किसी ने पोर्टल बनाया, किसी ने ग्रह खोजा

हरदा के अनुज ने तूफान का पता लगाने वाला प्रोजेक्ट बनाया

हरदा के अनुज जैन ने अंतरराष्ट्रीय साइंस ओलिंपियाड में तूफान का अनुमान लगाने वाला प्रोजेक्ट पेश किया था। इसमें दाे दिन पहले तूफान अाने की जानकारी दी।

अजमेर की गौरी, 100 से अधिक शैलियों में कैलिग्राफी का रिकॉर्ड

कैलिग्राफी की 100 से अधिक शैलियों में महारत हासिल करने वाली अजमेर की गौरी माहेश्वरी का नाम सबसे कम उम्र की कैलिग्राफर के रूप में दर्ज है। वह ऑनलाइन क्लास लेती है।

अनूपपुर की बनीता क्षुद्र ग्रह खोजा, उन्हीं के नाम पर होगा ग्रह का नाम

अनूपपुर की बनीता दास ने नासा के स्पेस फाउंडेशन और अंतरराष्ट्रीय खगोलशाला के मिशन-2021 में क्षुद्र ग्रह की खोज की थी। इस ग्रह का नाम उनके ही नाम से रखा जाएगा।

सिरसा के तनिश ने पशुओं की खरीद-बिक्री के लिए एप बनाया

सिरसा के तनिश सेठी (14) को पशुओं की ऑनलाइन खरीद-बिक्री के लिए एप बनाने के लिए पुरस्कार दिया गया है। यह एप हरियाणा व पंजाब में इस्तेमाल किया जा रहा हैै।

खबरें और भी हैं...