सस्ते नशे पर नकेल:15 भांग मुनक्का कंपनियों को नोटिस; 11 कंपनियों के लाइसेंस निरस्त, 4 की होगी जांच

इंदौर18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

भांग माफिया मोहम्मद मुजाहिद के यहां अवैध रूप से मिली 102 बोरी भांग की जब्ती के बाद प्रशासन और आबकारी ने कई भांग, मुनक्का निर्माताओं की जांच की। कई निर्माता मुनक्का में भांग की अधिक मात्रा मिलाकर बेच रहे हैं। 15 कंपनियों की जांच में 11 के लाइसेंस औषधि नियंत्रक, भोपाल ने सस्पेंड किए हैं, वहीं चार के खिलाफ कार्रवाई जारी है।

कलेक्टर मनीष सिंह ने बताया सस्ते नशे के खिलाफ कार्रवाई जारी रहेगी। जांच में भांग औषधि निर्माता इकाइयों द्वारा बनाए गए प्रोडक्ट के सैंपल लिए गए। इनमें से कई औषधि सैंपल अमानक पाए गए हैं। मुनक्का गोली बनाने वाले कारोबारियों को कितनी मांग प्राप्त हुई और किस प्रकार इसका उपयोग किया गया, इसका सही विवरण नहीं रखा गया।

आबकारी विभाग ने जो लाइसेंस दिए, वे औषधि निर्माण के हैं, लेकिन इसका व्यापक पैमाने पर दुरुपयोग हुआ है। प्रभारी सहायक आयुक्त आबकारी राजेश राठौड़ ने सभी इकाइयों को अनियमितता पर नोटिस जारी किए हैं।

इन कंपनियों को नोटिस जारी, लाइसेंस भी सस्पेंड

  • हीरालाल पंजवानी प्रोप्राइटर विश्वास सेवासदन (मस्तान मुनक्का)
  • नरेंद्र सिंह सोलंकी, माहेश्वरी मैन्युफैक्चरिंग (माहेश्वरी पाचक चूर्ण, खेलो माहेश्वरी वटी)
  • अनूप कुमार गुरबानी (अटल मुनक्का, अटल चूर्ण)
  • वैष्णव आयुर्वेदिक फॉर्मेसी (शिवम वटी सुपर स्पेशल नायिका चूर्ण)
  • हीरालाल पंजवानी (मस्ताना मुनक्का, मस्ताना चूर्ण)
  • एसएस मुनक्का भंडार (भोला पाचक वटी, वाजीकरण भोला)
  • गौरव वसेनी (सुरूर वटी, मलंग वटी)
  • तरंग फार्मा (तरंग पाचक वटी, मदनांद मोदक)
  • वर्धमान उद्योग (केसर युक्त राकेट मुनक्का)
  • शुक्ला आयुर्वेदिक फॉर्मेसी (सोमवटी)
  • लता मेहता (सनन मुनक्का- तीन फर्म)

इनके खिलाफ अलग से जांच

महेश अग्रवाल (काला घोड़ा मुनक्का), शुभम राठौर (पंचवटी मुनक्का), सनन मुनक्का की भी दो फर्म और हैं, जिन पर जांच औषधि विभाग से जारी है।

खबरें और भी हैं...