डेंगू मरीजों की संख्या बढ़कर 550:विष्णुपुरी, बैराठी कॉलोनी, इंद्रपुरी, सर्वानंद नगर, स्कीम 51 में मिले 16 नए मरीज

इंदौर20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

शहर में गुरुवार को डेंगू के 16 नए मरीज मिले हैं। इनके सहित इस साल डेंगू मरीजों की संख्या 550 तक पहुंच चुकी है। इनमें 118 बच्चे हैं। अभी 21 एक्टिव मरीज हैं जबकि 19 एडमिट हैं। जो नए मरीज मिले हैं वे इंद्रपुरी, विष्णुपुरी, बैराठी कॉलोनी, सर्वानंद नगर, स्कीम 51, साउथ तुकोगंज, भोलाराम उस्ताद मार्ग, नायता मुंडला आदि क्षेत्र के हैं। दूसरी ओर मलेरिया विभाग व नगर निगम की टीमों द्वारा जिन रहवासी क्षेत्रों में डेंगू के नए मरीज मिल रहे हैं उनके अलावा शॉपिंग माल्स, क्लब, होटलों के गमलों, पार्किंग की गंदगी के साथ अस्पतालों में भी लार्वा सैंपल लेने के साथ छिड़काव कर रही है।

हाल ही में टीमों को कुछ स्थान ऐसे मिले जहां मकान परिसर व बाहर न तो पानी जमाव मिला और न ही गंदगी। ऐसे में ये लोग कैसे चपेट में इसे लेकर अलग-अलग बिंदुओं पर अध्ययन किया गया। इसके तहत यह बात सामने आई कि सार्वजनिक स्थानों, बाजारों, शॉपिंग माल्स, क्लब, होटलों के परिसर, पोर्च, पार्किंग आदि में रखे गमलों व वाहनों में गंदगी होने से भी डेंगू कारण बन रहा है। इसके चलते अब टीमें नियमित इन स्थानों पर लार्वा सैंपल लेने के साथ छिड़काव कर रही है।

बरसात का पानी भी जमा नहीं होने दें

- जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. दौलत पटेल ने बताया कि डेंगू जमे हुए पानी में पनपने वाले मच्छरों के काटने से होता है जबकि डेंगू एडीज इजिप्टी (मादा मच्छर) के काटने से फैलता है। यह बुखार मच्छरों द्वारा फैलाई जाने वाली बीमारी है। यह स्थिति तब बनती है घरों में या आसपास एक ही स्थान पर बहुत दिनों से पानी जमा हो। जैसे कूलर, वॉश एरिया, सिंक, गमलों आदि भी कई बार पानी जमा रहता है जो डेंगू का कारक बनता है।

- लोगों से अपील की गई है कि हाल ही में बारिश हुई है जिससे घरों के आसपास कई स्थानों पर पानी जमा हो जाता है। इसे भी जमा नहीं होने दें और निकासी का प्रबंध करें।

- एडीज मच्छर पानी जमाव होने की स्थिति में सक्रिय हो जाते हैं। इन मच्छरों की प्रकृति यह है कि ये दिन में ही काटते हैं।

- फिर कुछ समय बाद इसकी चपेट में आए लोगों को तेज बुखार, शरीर पर लाल चकत पड़ना, सिर, हाथ-पैर और बदन में तेज दर्द, भूख न लगना, उल्टी-दस्त, गले में खराश, पेट में दर्द और लिवर में सूजन आदि लक्षण दिखते हैं।

- ऐसे में संबंधित व्यक्ति को तुरंत डॉक्टरों को दिखाना चाहिए। इसके बाद ब्लड टेस्ट में इसकी जांच होती है जिसमें पुष्टि होती है कि उसे डेंगू है या दूसरी बीमारी।

बचाव के ये तरीके भी

- मच्छरों को दूर रखने के लिए मच्छर भगाने वाले रिपेलेंट, क्रीम, कॉइल और स्प्रे का इस्तेमाल करें।

- खिड़की और दरवाजों को सुरक्षित करें या यदि आवश्यक हो तो मच्छरदानी का उपयोग करें।

- यदि संभव हो तो एयर कंडीशनिंग घर के अंदर इस्तेमाल करें।

खबरें और भी हैं...