छुटि्टयों का असर:ट्रेन में इमरजेंसी कोटे में सीटों से 3 गुना आवेदन

इंदौरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

रक्षाबंधन और 15 अगस्त के बाद मंगलवार को दिल्ली, मुंबई सहित अन्य सभी रूट की ट्रेनों में लंबी वेटिंग रही। स्थिति यह रही कि इमरजेंसी कोटे की सीटों के लिए भी रेलवे अधिकारी पसोपेश में थे। कारण था कि ट्रेन में सीटों की क्षमता से तीन गुना तक वीआईपी लेटर रहे। इनमें जनप्रतिनिधियों से लेकर रेलवे सलाहकार समिति के सदस्य और अन्य लोगों के लेटर शामिल हैं।

दरअसल, पिछले सप्ताह ज्यादातर दिन छुट्टियां थीं। छुट्टियों के बाद ट्रेनों में ट्रैफिक ज्यादा है। अवंतिका एक्सप्रेस, निजामुद्दीन, पुणे एक्सप्रेस सहित 10 से ज्यादा रूट की ट्रेनों में वेटिंग 100 के पार तो थी ही, इमरजेंसी कोटे की सीटों के लिए सबसे ज्यादा दबाव रहा।

रेलवे के एक अधिकारी के अनुसार इमरजेंसी कोटे की सीटों के लिए आवेदन तीन गुना तक रहे। यदि किसी ट्रेन में 15 सीट का कोटा है तो इन सीटों के लिए आवेदन 45 से ज्यादा रहे। स्थिति यह रही कि निजामुद्दीन, अवंतिका, पुणे एक्सप्रेस में 60-75 तक वीआईपी लेटर लगे।

खबरें और भी हैं...