परिवहन पर कोरोना संक्रमण का असर:फ्लाइट में 30 से 45, ट्रेनों में 10 से 15, बसों में 40% यात्री घटे

इंदौर6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

ओमिक्रॉन का असर परिवहन पर भी पड़ा है। सबसे ज्यादा प्रभावित फ्लाइट्स हुई हैं। फ्लाइट में बुकिंग 15 से 20 फीसदी तक घट गई है। यात्री संख्या भी कम हुई है। फिलहाल इंदौर से दिल्ली और मुंबई रूट की फ्लाइट में ही यात्री संख्या अन्य फ्लाइट की तुलना में ज्यादा है। एयरलाइंस कंपनी और ट्रेवल बुकिंग एजेंटों के अनुसार इन दोनों रूट पर 60 फीसदी सीटें फुल हैं। वहीं, बेंगलुरू, हैदराबाद, लखनऊ, जबलपुर, प्रयागराज सहित अन्य रूट की फ्लाइट पर कोरोना का असर ज्यादा हुआ है। इन रूट पर 30 से 45% यात्री घट गए हैं।

कम बुकिंग के कारण एक सप्ताह में अलग-अलग रूट की 13 फ्लाइट निरस्त भी हुईं। इनमें हैदराबाद, लखनऊ, जबलपुर, प्रयागराज रूट की फ्लाइट शामिल हैं। ट्रेवल एजेंट एसोसिएशन ऑफ इंडिया के प्रदेश अध्यक्ष हेमेंद्रसिंह जादौन के अनुसार कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है। बुकिंग करवाने वालों की संख्या पहले से जरूर कम हुई है।

इंदौर से फिलहाल 60 फ्लाइट का संचालन आने-जाने में हो रहा है। औसत पांच हजार यात्री रोजाना सफर कर रहे हैं। दिसंबर में यह आंकड़ा 7 हजार तक पहुंच गया था। इनमें दिल्ली रूट की सबसे ज्यादा पांच और मुंबई रूट पर तीन फ्लाइट का संचालन हो रहा है।

कम बुकिंग, एक सप्ताह में ये फ्लाइट निरस्त

  • 13 जनवरी : अलग-अलग रूट की सात फ्लाइट निरस्त हुईं, इसमें हैदराबाद, बेंगलुरु, मुंबई, लखनऊ, जबलपुर रूट की फ्लाइट शामिल हैं।
  • 10 जनवरी : दिल्ली, मुंबई की एक-एक फ्लाइट अौर लखनऊ, प्रयागराज रूट की फ्लाइट निरस्त हुई थी। कुल छह उड़ानें निरस्त रहीं।
  • विस्तारा एयरलाइंस 31 जनवरी तक सुबह की दिल्ली की फ्लाइट निरस्त कर चुका है। अब दिल्ली के लिए इंदौर से पांच फ्लाइट का संचालन हो रहा है। सबसे ज्यादा इसी रूट पर फ्लाइट संचालित हो रही है।

बस : ज्यादा असर महाराष्ट्र रूट की बसों पर

कोरोना का सबसे ज्यादा प्रभाव महाराष्ट्र रूट की बसों पर पड़ा है। वीडियो कोच बस एसोसिएशन के मुताबिक महाराष्ट्र रूट पर कोरोना से पहले 250 बसें थीं। अब 25 फीसदी बसें निरस्त रहती हैं। जिन ऑपरेटर की पहले 5 से 6 बसें इस रूट पर चलती थीं, वे अब 2 से 3 बसें ही चला रहे। बसों में सभी रूट पर 40% यात्री घट गए हैं।

ट्रेन : 10 से 15 फीसदी यात्री कम हुए

ट्रेनों में भी अलग-अलग रूट पर 10 से 15 फीसदी यात्री कम हो गए हैं। हालांकि रेलवे ने कुछ ट्रेनों में कोच जरूर बढ़ाए हैं। रेलवे इंदौर से चलने वाली छह ट्रेनों में सेकंड एसी का अतिरिक्त कोच लगाएगी। रेलवे जनसंपर्क विभाग के अनुसार यात्रियों की सुविधा के लिए अतिरिक्त कोच लगाए जा रहे हैं।

कौन-सी ट्रेन में कब से लगेगा अतिरिक्त कोच

  • मालवा में 15 जनवरी से।
  • यशवंतपुर और इंदौर-दिल्ली सराय रोहिल्ला ट्रेन में 16 से
  • महू-नागपुर एक्सप्रेस और इंदौर-कोचुवेली में 18 से
  • कामाख्या एक्सप्रेस में 20 जनवरी से लगेगा।
खबरें और भी हैं...