• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • 45 Truckloads Of Hapus, Almonds Come Down Daily, Now Expected From Saffron, Lame, Dussehri In May June

कोरोना vs फलों का राजा:हापुस, बादाम की रोज 45 ट्रक आवक घटी, अब मई-जून में केसर, लंगड़ा, दशहरी से उम्मीद

इंदौर6 महीने पहलेलेखक: विश्वनाथ सिंह
  • कॉपी लिंक
120 से 150 रुपए किलो रत्नागिरि का हापुस। - Dainik Bhaskar
120 से 150 रुपए किलो रत्नागिरि का हापुस।
  • खेरची में 120 से 150 रु. किलो बिक रहा संतरा, गुजरात का नारियल भी खत्म होने लगा

दो साल में दूसरी बार है, जब कोराेना संक्रमण के चलते फलों के राजा आम के सीजन पर असर हुआ है। कोरोना से पहले सीजन में चोइथराम फल मंडी में आम की आवक हर दिन 40 से 50 ट्रक होती थी। फिलहाल 2 से 3 ट्रक ही माल आ रहा है। अभी मंडी भी सुबह तीन से चार घंटे ही खुल रही है। इसीलिए व्यापारी भी ज्यादा माल मंगवाने से कतरा रहे हैं। व्यापारियों के मुताबिक ज्यादा गाड़ियाें के मंगवाने से लोडिंग और अनलोडिंग में समय लगता है।

ऐसे में बाजार में माल भेजने में परेशानी आ रही है। अभी दक्षिण तरफ से आवक हो रही है। हैदराबाद का लालपट्‌टा, सुंदरी, रत्नागिरि का हापुस, पायरी आ रहा है। आंध्रप्रदेश का बादाम आम भी आ रहा है। इसकी आवक मार्च से ही शुरू हो गई थी, लेकिन लॉकडाउन लग जाने से बाजार में ठीक से माल आ ही नहीं पाया। इसकी आवक अप्रैल अंत व मई के पहले सप्ताह तक रहेगी। रत्नागिरि का हापुस भी लगभग 10 से 12 दिन और चलेगा।

यह हैं प्रमुख आम के थोक भाव

  • 30 से 40 रु. किलो बादाम
  • 30 से 40 रु. किलो लाल पट्‌टा

गुजरात, यूपी से अब आएगा
आगामी दिनों में बाजारों को रियायत मिल सकती है। इसका फायदा गुजरात और उत्तरप्रदेश की आम की फसल को मिलेगा। मई की शुरुआत से ही गुजरात का केसर, लंगड़ा व राजापुरी आम आने लगेगा। इसके बाद जून से यूपी का लंगड़ा, चौसा, रामकली, दशहरी की आवक शुरू होगी।

साउथ का बड़ा नारियल चल रहा
साउथ से नारियल की 10 से 12 गाड़ी रोज आ रही है। यह नारियल बड़ा होता है और इसमें पानी भी ज्यादा निकलता है। गुजरात से आने वाले छोटे नारियल की आवक लगभग समाप्त हो गई है। मंडी में साउथ का नारियल 24 से 25 रुपए प्रति नग बिक रहा है। खेरची में दाम 50 से 70 रुपए प्रति नग तक हैं।

कोल्ड स्टोरेज का संतरा भी खत्म, थोक में ही भाव 90 से 100 रुपए
श्री इंदौर हरी सब्जी आलू-प्याज फल व्यापारी संघ के अध्यक्ष ओमप्रकाश परीडवाल ने बताया कि संतरे की फसल इस बार 10 प्रतिशत ही रह गई है। हर साल 15 से 20 रुपए प्रति किलो में बिकने वाला संतरा थोक में 90 से 100 रुपए तक बिक रहा है। राजगढ़ व शाजापुर से देसी संतरा बड़ी मात्रा में आ रहा था, तब संतरे के भाव खेरची में 20 से 30 रुपए किलो तक आ गए थे।

जो संतरा कोल्ड स्टोर में था, वो भी खत्म हो गया है। मुंबई में विदेश से जो संतरा आता है, उसको व्यापारी स्टोर में रखते हैं फिर देशभर में ऑर्डर से भिजवाते हैं। वहीं, राजस्थान और पंजाब की बॉर्डर गंगानगर से कीनू भी इस साल काफी मात्रा में आया, लेकिन अब इसकी आवक समाप्त हो गई है। कीनू की फसल अच्छी थी, इसलिए अभी तक चलता रहा।

खबरें और भी हैं...