स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 की तैयारी:अब 6 बिन हर दिन, प्लास्टिक मुक्त शहर पर होगा फोकस; इसके लिए अभियान चलाकर लोगों को जोड़ेंगे

इंदौर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रेजेटेंशन देखते आयुक्त व अन� - Dainik Bhaskar
प्रेजेटेंशन देखते आयुक्त व अन�

स्वच्छ सर्वेक्षण को लेकर बुधवार को आरएनटी मार्ग एनजीओ के साथ निगम आयुक्त और अधिकारियों ने कार्यशाला आयोजित की थी। इसमें 2022 में किन बातों पर ध्यान दिया जाना है। इस बात पर जोर दिया गया। इस दौरान प्रेजेंटेशन देकर कई बिंदुओं पर चर्चा की गई।

रविन्द्र नाटय गृह में नगर निगम आयुक्त प्रतिभा पाल ने समस्त एनजीओ हेड को स्वच्छ सर्वेक्षण की जानकारी दी। जिसमें किस तरह से काम करना है। इसे लेकर 6 बिन प्रतिदिन, एयर क्वालिटी इंडेक्स, प्लास्टिक मुक्त शहर बनाना, झोलाछाप इंदौरी अभियान चलाना और शहर की स्वच्छता व सुंदरता रखने की बातों पर प्राथमिकता दी गई। आयुक्त ने बताया कि शहर की जनता को 6 प्रकार से कचरा का संग्रहण कर, निगम के डोर टू डोर कचरा संग्रहण वाहनों में पृथक-पृथक देना और इससे होने वाले लाभ की जानकारी भी जन-जन तक पहुंचाना मुख्य उद्देश्य होगा।

वहीं, एयर क्वालिटी इंडेक्स को बेहतर बनाने के लिए निगम द्वारा शहर में कोयला, लकड़ी जलाने से रोकने के लिए विभिन्न संगठनों, होटल, रेस्त्रां, मार्केट एसोसिएशन की बात की गई। इसे सफल बनाने के लिए सभी को एलपीजी व सीएनजी में कन्वर्ट करने के प्रेरित करने की बात कही गई।

प्लास्टिक मुक्त करेंगे शहर
आयुक्त ने बताया कि लोगों को सिंगल यूज प्लास्टिक के खतरे की जानकारी देना, निगम द्वारा चलाए जा रहे झोलाछाप इंदौरी अभियान से जोड़ना और हर इंदौरी झोला या थैला लेकर चले व इसका उपयोग करें। इसके साथ ही व्यावसायिक क्षेत्रों, मार्केट में दुकानदारों को प्लास्टिक व डिस्पोजल का प्रयोग ना करे। अपने क्षेत्र को जीरो प्लास्टिक क्षेत्र बनाए।