19 अप्रैल की सुबह 6 बजे ही खुलेगा इंदौर:10 दिनों में 8 हजार से ज्यादा मरीज मिले; सुबह 6 से 10 बजे तक किराना, सब्जी और दूध मिलेगा, भोजन की होम डिलीवरी की जा सकेगी

इंदौर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सुदामा नगर और राजेंद्र नगर में सबसे ज्यादा मरीज मिले
  • 14 कॉलोनियों में 10 या 10 से ज्यादा पॉजिटिव, कोविड सेंटर की शुरुआत

इंदौर में पिछले 24 घंटे में 919 संक्रमित मिले हैं। वहीं, 1 अप्रैल से 10 अप्रैल तक 8196 कोरोना मरीज मिले हैं। इसे देखते हुए प्रशासन ने रविवार काे इंदौर में 12 से 16 अप्रैल तक कोरोना कर्फ्यू लागू किया है। शासन द्वारा पूर्व से घोषित लॉकडाउन को अब कोराेना कर्फ्यू नाम दिया गया है। यानि अब 19 अप्रैल की सुबह 6 बजे ही इंदौर खुल सकेगा। कोरोना कर्फ्यू में सरकार ने आर्थिक गतिविधियों को देखते हुए कुछ छूट दी हैं।

कोरोना कर्फ्यू के तहत सुबह 6 बजे से सुबह 10 बजे तक दूध, सब्जी, किराने का सामान मिलेगा। रेस्टोरेंट्स संचालक किचन चालू कर होम डिलीवरी भी करवा सकेंगे। औद्योगिक क्षेत्रों में गतिविधियां चालू रहेगी। बैंक, एटीएम समेत अन्य गतिविधियों को भी अनुमति दी गई है। ट्रांसपोर्ट संचालन भी जारी रहेगा।

CM ने कोरोना को लेकर बुलाई बैठक:कहा- लॉकडाउन नहीं, कोरोना कर्फ्यू है; कई गतिविधियों को छूट दी जा रही है, भोपाल पर हो सकता है फैसला

कोरोना को देखते हुए इंदौर का पहला कोविड केयर सेंटर धार रोड पर बनाने का फैसला लिया गया है। इस सेंटर की जिम्मेदारी अलग-अलग अधिकारियों को सौंप दी गई है। शहर में कोरोना मरीजों की संख्या तेज गति के साथ बढ़ रही है। इसमें जो व्यक्ति ज्यादा गंभीर स्थिति में नहीं है, उन्हें अस्पताल में भर्ती करने के बजाय होम आइसोलेशन में रहने की सलाह दी जाती है।

इसमें भी बहुत से लोग ऐसे हैं, जिनके घर में ऐसा स्थान नहीं है, जहां पर वह अलग रह सकें। ऐसे व्यक्तियों के लिए कोविड केयर सेंटर की जरूरत महसूस की जा रही थी। इस जरूरत को पूरा करने के लिए कलेक्टर मनीष सिंह ने एक आदेश जारी कर जगतगुरु दत्तात्रेय चिकित्सालय ग्राम सिंहासा धार रोड को कोविड केयर सेंटर बनाया है।

अब लॉकडाउन के बीच ही यह टीकाकरण उत्सव मनाया जाएगा। शासन के निर्देशानुसार शहर के 326 वैक्सीनेशन सेंटर पर कोविड-19 टीकाकरण 11 से 14 अप्रैल तक चलाया जा रहा है। इस टीकाकरण अभियान में 45 वर्ष से अधिक उम्र के हितग्राहियों एवं पहली वैक्सीन लगवाने के 28 दिन पूर्ण होने वाले हितग्राही के टीकाकरण के लिए विशेष अभियान शुरू किया गया है।

452 केंद्रों पर लगाए जाएंगे टीके टीकाकरण अभियान के लिए नियुक्त किए गए नोडल अधिकारी अपर कलेक्टर रोहन सक्सेना ने बताया है कि इंदौर जिले में टीकाकरण महोत्सव के दौरान 452 टीकाकरण केंद्र कार्यरत रहेंगे जहाँ पर चार दिनों तक सतत् टीकाकरण होगा।

उन्होंने बताया कि राज्य शासन द्वारा जिले में पर्याप्त संख्या में वैक्सीन उपलब्ध करा दी गई है। सक्सेना ने बताया है कि टीकाकरण के लिए शहरी क्षेत्र में 332 और ग्रामीण क्षेत्र में 120 10 दिनों में जिले में 8000 संक्रमित केंद्र बनाए गए हैं। शहरी क्षेत्र में 241 शासकीय और 68 प्राइवेट हास्पिटल में टीकाकरण किया जा रहा है। इसी तरह विभिन्न सामाजिक संगठनों, जन प्रतिनिधियों द्वारा प्राप्त सुझावों के आधार पर 23 नये टीकाकरण केंद्र भी शहरी क्षेत्रों में बनाए गए हैं। ग्रामीण क्षेत्र में 120 टीकाकरण केंद्रों में से 110 शासकीय अस्पतालों में और 10 निजी संस्थानों में टीकाकरण केंद्र बनाए गए हैं। उल्लेखनीय है कि टीकाकरण लॉकडाउन के दौरान भी सतत चलता रहेगा।

बड़ा विस्फोट
कोरोना के हॉट स्पॉट सुदामा नगर में फिर बड़ा विस्फोट हुआ है। यहां एक साथ 34 संक्रमित मरीज मिले है, वहीं राजेंद्र नगर में भी 24 संक्रमित मरीज मिले है। पूरे जिले में 14 क्षेत्र ऐसे है जहां से 10 या उससे अधिक संक्रमित मरीज मिले है। क्षेत्र वार सूची के अनुसार 345 क्षेत्रों से 1063 लोग संक्रमित मिले है। नंदानगर में भी 19, तिलक नगर, विजय नगर में 15-15, दुर्गा नगर व तेजाजी नगर में 14-14, आजाद नगर में 13, बाणगंगा व राऊ में 12-12, स्कीम नं. 78 व परदेशीपुरा में 11-11 तथा खजाराना व महू में 10-10 संक्रमित मरीज मिले है। साथ ही कनाडिय़ा, पल्हर नगर, संयोगितागंज, लाडकाना नगर में 8-8 व उषानगर, व्यंकटेश नगर में भी 7-7 संक्रमित मरीज मिले हैं।

जिले में अब तक 8202 संक्रमित

1 अप्रैल682
2अप्रैल708
3अप्रैल731
4अप्रैल788
5अप्रैल805
6अप्रैल866
7 अप्रैल898
8अप्रैल887
9अप्रैल912
10अप्रैल919