कोरोना से जंग / बीमारी से जान गंवाने वाले 83 फीसदी ऐसे, जिन्हें थी एक से ज्यादा बीमारियां

फाइल फोटो फाइल फोटो
X
फाइल फोटोफाइल फोटो

  • 111 मरीजों की मौत का प्रशासन ने डेथ ऑडिट करवाया है
  • 83 फीसदी यानी 92 मौतों का कारण को-मोर्बिलिटी (एक से अधिक बीमारी होना) रहा

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 07:56 AM IST

इंदौर. कोरोना से शहर में शुक्रवार तक हुई 111 मरीजों की मौत का प्रशासन ने डेथ ऑडिट करवाया है। इसमें सामने आया कि 83 फीसदी यानी 92 मौतों का कारण को-मोर्बिलिटी (एक से अधिक बीमारी होना) रहा। ज्यादातर मामलों में मुख्य वजह डायबिटीज व हाई ब्लड प्रेशर कारण बना। रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होने से ये मरीज कोरोना वायरस का सामना नहीं कर सके। ऑडिट में यह भी खुलासा हुआ कि शहर में 30 साल से कम उम्र के किसी व्यक्ति की जान नहीं गई। 

जिनकी मौत हुई उनमें 53  को डायबिटीज

  • डायबिटीज- 53

  • ब्लड प्रेशर- 49 (30 मरीजों को दोनों बीमारी थी) 
  • कार्डियक समस्या- 16 (13 को कार्डियक के साथ अन्य बीमारी भी थी) 
  • अस्थमा- 14 (इसमें 12 को अस्थमा के साथ अन्य बीमारी डायबिटीज, बीपी था)
  • पल्मोनरी टीबी- 3
  • अल्कोहल, स्मोकर, किडनी, मोटापा- 44 (इसमें 29 ऐसे, जिन्हें बीपी, शुगर भी थी)

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना