पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • A Patient Suffering From Bed Without Rimdasevir Injection, Taking A Family In A 40 Degree Heat Road, Hundreds Of Family Members Of The Infected Together, How Will The Infection Stop?

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

ये 'इंजेक्शन' कहीं और ना बढ़ा दे संक्रमण:रेमडेसिविर के बिना बेड पर तड़प रहा मरीज, इसे लेने 40 डिग्री में सड़क पर तप रहा परिवार, संक्रमितों के सैकड़ों परिजन एक साथ, कैसे रुकेगा संक्रमण

इंदौर11 दिन पहलेलेखक: राजीव कुमार तिवारी
दवा बाजार में करीब 40 डिग्री तापमान होने के बाद भी लोग अपनी की जिंदगी बचाने के लिए तपते रहे।

सर, सुबह से लाइन में खड़ा हूं, कब मिलेगी, दवाई... पत्नी की हालत बहुत खराब है। ये रुदनभरी आवाज थी 58 साल के महेश कुमार की। उनकी पत्नी कोरोना पॉजिटिव हैं और वे दो दिन से ऑक्सीजन पर हैं। उनके चेस्ट में करीब 50 फीसदी संक्रमण फैल चुका है। वैसे तो वे बड़वानी के रहने वाले हैं। लेकिन पत्नी की कंडीशन देख वे इलाज के लिए इंदौर आए हैं। यहां पर जैसे-तैसे जैक जुगाड़ से एक बेड अस्पताल में तो मिल गया, लेकिन रेमडेसिविर इंजेक्शन का व्यवस्था नहीं हो पा रही है। सुबह 8 बजे से वे लाइन में लगे हुए थे। भूखे-प्यासे बस इसी आस में वे 40 डिग्री ताप पर तपते रहे थे कि उन्हें इंजेक्शन मिल जाएगा। यह कहानी अकेले महेश की ही नहीं, हजारों लोगों की थी, जो इंजेक्शन की आस में लाइन में लगे हुए थे।

इंजेक्शन के लिए दो लाइन लगी हुई थी। एक वो जिन्हें कल टोकन मिले थे, दूसरे वो जिन्हें आज टोकन मिलने थे।
इंजेक्शन के लिए दो लाइन लगी हुई थी। एक वो जिन्हें कल टोकन मिले थे, दूसरे वो जिन्हें आज टोकन मिलने थे।

दवा बाजार में सड़क तक लग गई लाइन
गुरुवार को रेमडेसिविर इंजेक्शन के लिए और ज्यादा मारामारी रही। अस्पताल में पेशेंट और दवा बाजार की सड़कों पर घूमते परिजन। सुबह से ही लोग कतार में खड़े हो गए थे। सुबह 11 बजते-बजते महिला और पुरुष की अलग लाइन लग चुकी थी। पुलिस ने यहां मोर्चा संभाल लिया था और पुलिस के साये में दवाई वितरित की जा रही थी। लाइन में इतनी लंबी कि सड़क में दूर तक कतार नजर आई। सुबह 5 बजे से आए लोग 7 से 8 घंटे तक भूखे-प्यासे इसी आस में खड़े रहे कि उन्हें इंजेक्शन मिल जाएगा। हालांकि ज्यादातर लोगों को खाली हाथ ही लौटना पड़ा। उन 116 लोगों में से कुछ को तो इंजेक्शन नसीब हो गया, जिन्हें बुधवार को टोकन दिए गए थे। अब बचे हुए लोगों को शुक्रवार को इंजेक्शन मिलेगा। इंजेक्शन दे रहे व्यापारी का कहना है कि मांग चार गुना है, लेकिन स्टॉक उसका आधा भी नहीं मिल रहा है।

मेडिकल की जगह अस्पताल में से ही मिले इंजेक्शन - शुक्ला
विधायक संजय शुक्ला ने कहा कि आखिर आमजनता को दवा क्यों नहीं मिल रही है। जबकि माल तो बराबर आ रहा है। जब कोविड अस्पताल आरक्षित हैं तो फिर इंजेक्शन को मेडिकल शॉप से क्यों बेचा जा रहा है। ये इंजेक्शन तो सही में अस्पताल से ही मिलने चाहिए। वहां मरीज को आॅक्सीजन, दवा नहीं मिल रही है। यहां पर उनके परिजन एक इंजेक्शन के लिए रातभर से लाइन में लग रहे हैं। यदि सरकार व्यवस्था नहीं कर पा रही है तो हमें बताए, हम खरीदकर इंजेक्शन गरीबों को बांटेंगे। इंदौर में हाहाकार मचा हुआ है।

MP में लॉकडाउन:अब सभी नगरीय क्षेत्रों में शनिवार-रविवार लॉकडाउन

विधायक संजय शुक्ला ने धूप में खड़े लोगों को बिस्किट के पैकेट बांटे।
विधायक संजय शुक्ला ने धूप में खड़े लोगों को बिस्किट के पैकेट बांटे।

वहां, कोराेना मरीज बेड पर दवाई के अभाव में मर रहा है। यहां पर इंजेक्शन के लगे परिजन मर रहे हैं। यहां आया हर व्यक्ति कोरोना मरीज से जुड़ा हुआ है। ऐसे में कोरोना और फैलेगा। हजारों लोग यहां लाइन में लगे हैं। कोविड नियम का किसी प्रकार से पालन नहीं हो रहा है। सरकार फ्री में बांटने की बात कहा रही है, हमें फ्री में नहीं समय पर इंजेक्शन चाहिए। ऐसी अव्यवस्था किसी अन्य राज्य में नहीं हैं, केवल मप्र में ही ऐसे हालात बन रहे हैं।

अस्पताल में जान जा रही, कर्मचारी बेच रहे रेमडेसिविर !:इंदौर के सुपर स्पेशलिटी में भर्ती संक्रमित युवक को बचाने परिजन इंजेक्शन के लिए भटकते रहे, मौत; रेमडेसिविर बेचते सिस्टर इंचार्ज का का बनाया VIDEO

सर, बिस्किट नहीं, दवा दिलवा दीजिए
विधायक संजय शुक्ला ने यहां पर पहुंचा धूप में खड़े लोगों से उनकी व्यथा जारी। उन्होंने कहा कि यदि सरकार इस इंजेक्शन को अस्पताल में उपलब्ध करवा दे तो इन लोगों को इस प्रकार से धूप में खड़े नहीं रहना पड़ेगा। उन्होंने सुबह से भूखे-प्यासे लाइन में लगे लोगों को बिस्किट का वितरण भी किया। इस दौरान लोगों ने कहा कि सर, बिस्किट नहीं, हमें दवा दिलवा दीजिए। हमारा मरीज वहां पर ऑक्सीजन के सहारे सांस ले रहा है और हम यहां इंजेक्शन के लिए दो -तीन दिन से परेशान हो रहे हैं। इस पर उन्होंने कहा कि हम शासन-प्रशासन से इसे लेकर लगातार बात कर रहे हैं।

इंजेक्शन लेने पीपीई किट पहनकर पहुंचा एक व्यक्ति।
इंजेक्शन लेने पीपीई किट पहनकर पहुंचा एक व्यक्ति।

क्या ऐसे में कोरोना नहीं फैलेगा
दवा बाजार के व्यापारियों में एक डर समा गया है। उनका कहना है कि सैकड़ों की संख्या में वे लोग यहां पर दवा लेने आ रहे हैं, जिनके परिवार को कोई ना कोई सदस्य काेराेना संक्रमित है। वे सुबह से यहां लाइन में लग जाते हैं। धूप होने पर यहां-वहां दुकानों के सामने खड़े हो जाते हैं। इसमें से कई लोग कोरोना संक्रमित हो सकते हैं। इतनी लंबी लाइन लग रही है कि सोशल डिस्टेंसिंग तो भूल ही जाइए। पूरे शहर में यदि दो-चार लोग एक साथ दिख जाएं या अकेले व्यक्ति बना मास्क के नजर आ जाए तो पुलिस और निगम डंडा फटकारती है। यहां पर सैकड़ों लोगों की भीड़ उमड़ रही है और पुलिस खुद खड़े होकर उन्हें दवाई दिलवा रही है। इतनी भीड़ एकत्रित करने से क्या कोरोना नहीं फैलेगा।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- कुछ रचनात्मक तथा सामाजिक कार्यों में आपका अधिकतर समय व्यतीत होगा। मीडिया तथा संपर्क सूत्रों संबंधी गतिविधियों में अपना विशेष ध्यान केंद्रित रखें, आपको कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती हैं। अनुभव...

और पढ़ें