लड़की से बात की तो फील्ड इंस्पेक्टर का पैर तोड़ा,VIDEO:इंदौर के गुंडों ने घर ले जाकर चप्पल, लात-घूंसे मारे; दिल पर चोट लगी

इंदौर5 महीने पहले

इंदौर में युवक को लड़की से बात करना महंगा पड़ गया। युवक प्राइवेट एग्रीकल्चर कंपनी में फील्ड इंस्पेक्टर है। गुंडों ने फील्ड इंस्पेक्टर के कपड़े उतारकर सड़क पर लात-घूंसों से पीटा। आरोपी बाइक पर बैठाकर उसे उसके घर तक ले गए। यहां परिवार के सामने लकड़ी और चप्पल भी मारी। परिवार की महिलाओं ने इसका VIDEO बना लिया था। फील्ड इंस्पेक्टर का पैर टूट गया है। हार्ट में भी प्रॉब्लम हो गई है। वह अस्पताल में भर्ती है। घटना 13 जून की बताई जा रही है। पिटाई का VIDEO अब सामने आया है।

घायल हालत में पीड़ित द्वारकापुरी थाने पहुंचा। यहां पुलिस ने पहले घटनास्थल चंदन नगर में होने की बात कर रवाना कर दिया। चंदन नगर पुलिस ने भी सामान्य मारपीट की धाराओं में केस दर्ज कर लिया। अस्पताल में फील्ड इंस्पेक्टर के पैर की हड्‌डी के दो टुकड़े होने का पता चला। हार्ट में भी उसे परेशानी होने लगी। इसके बाद बुधवार को पीड़ित की मां और पत्नी पुलिस कमिश्नर हरिनारायण चारी मिश्र के पास पहुंची और मामले में पुलिस की लापरवाही की जानकारी दी। अब पुलिस ने बयान लेने के बाद धारा बढ़ाने की बात कही है। मारपीट करने वाले एक आरोपी पर पूर्व में भी अपराध दर्ज है।

गुंडों ने फील्ड इंस्पेक्टर के कपड़े उतारकर सड़क पर लात-घूंसों से पीटा।
गुंडों ने फील्ड इंस्पेक्टर के कपड़े उतारकर सड़क पर लात-घूंसों से पीटा।

युवक को गाड़ी पर बैठाकर घर ले गए गुंडे

रामकृष्ण पुत्र मिश्रीलाल बाकरिया निजी लैबोरेटरी में फील्ड इंस्पेक्टर के पद काम करते हैं। 13 जून को चंदन नगर में रिलायंस फ्रेश के पास अपनी बाइक सुधरवा रहे थे। तभी दो गाड़ियों से वहां शुभम, संदीप और गौरव पहुंचे। तीनों ने रामकृष्ण को उनकी परिवार की युवती से बात करने के लिए मना किया और पीटना शुरू कर दिया। इसके बाद आरोपी रामकृष्ण को अपनी गाड़ी पर बैठाकर प्रजापत नगर इलाके में उसके घर ले गए। यहां घर के बाहर उसे बुरी तरह पीटा। इस दौरान आरोपी संदीप आवाज लगाते हुए पुलिस को बुलाने का चैलेंज देता रहा। काफी देर बाद कुछ रहवासियों ने हिम्मत कर रामकृष्ण को छुड़ाया।

आरोपियों ने रामकृष्ण को उसके ही घर के सामने लाकर पीटा।
आरोपियों ने रामकृष्ण को उसके ही घर के सामने लाकर पीटा।

बीजेपी नेता के खास हैं आरोपी

पुलिस कमिश्नर के आदेश के बाद चंदन नगर एएसआई दीपेश गोराना ने इस मामले में पीड़ित को फिर से बयान के लिए बुलाया। परिवार ने यह भी बताया कि संदीप इलाके में सट्‌टे के काम में लिप्त रहा है। उस पर पहले के भी अपराध दर्ज हैं। बीजेपी नेता का खास होने के चलते पुलिस ने अभी तक उसे गिरफ्तार नहीं किया। वहीं पुलिस कमिश्नर ने आरोपियों पर सख्त कार्रवाई करते हुए उन्हें गिरफ्तार करने की बात कही है। पीड़ित के मुताबिक आरोपी लगातार उसे कॉल कर समझौते के लिए दबाव बना रहे हैं।