• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Active Patients Fell From A Maximum Of 13354 To 12608 In Three Days; 12699 New Patients In 7 Days, Out Of Which 12603 Became Healthy

कोरोना कर्फ्यू के पॉजिटिव इफेक्ट:एक्टिव मरीज अधिकतम 13354 से गिर कर तीन दिन में 12608 पर पहुंचे; 7 दिन में 12699 नए मरीज, इनमें से 12603 स्वस्थ हुए

इंदौर6 महीने पहलेलेखक: संजय गुप्ता
  • कॉपी लिंक

शहर में कोरोना कर्फ्यू के पॉजिटिव इफैक्ट नजर आने लगे हैं। 27 मार्च से नाइट कर्फ्यू के बाद 11 अप्रैल से कोरोना कर्फ्यू लागू किया गया था, जिसमें 21 अप्रैल से सख्ती बढ़ाई गई। नतीजा यह कि 3 दिनों से एक्टिव मरीजों की संख्या कम हो रही है। शहर में मार्च अंत से यह लहर शुरू हुई थी, 14 अप्रैल के बाद इसमें तेजी आई।

हालांकि बीते सात दिनों से करीब 18 फीसदी पॉजिटिव की स्थिर दर से 12699 नए संक्रमित सामने आए। 12603 स्वस्थ भी हो गए, यानी रिकवरी दर 99% रही। एक्सपर्ट के अनुसार लहर 50-60 दिन की होती है। इंदौर में अगस्त-सितंबर व नवंबर-दिसंबर में लहर दिखी थी। मार्च अंत से शुरू यह लहर मई मध्य तक चलने की संभावना है।

इंदौर में भी मुंबई-पुणे जैसा ट्रेंड, अब वहां भी गिर रहे आंकड़े

  • मुंबई- पुरानी लहर का पीक 16 सितंबर को 34 हजार एक्टिव मरीज। नई लहर में 11 अप्रैल को 91 हजार, अब 68 हजार हो गए।
  • पुणे- पुरानी लहर का पीक 16 सितंबर को 34 हजार एक्टिव मरीज। नई लहर में 11 अप्रैल को 91 हजार, अब 68 हजार हो गए।
  • ठाणे- पुरानी लहर में पीक जुलाई में 40 हजार मरीज। नई लहर में 84 हजार, 14 अप्रैल को, अब 80 हजार।
  • इंदौर -पुरानी लहर में पीक 16 सितंबर को 5399 एक्टिव मरीज। नई लहर 26 अप्रैल को 13354 अब 12608 हुए।

भास्कर एक्सपर्ट- पहले भर्ती के लिए सौ फोन आते थे, अब 50-60, जल्दी भर्ती होने पर 3 दिन में हो रहे ठीक
एमिनेंट अस्पताल के डायरेक्टर डॉ. राकेश शिवहरे बताते हैं कि पहले भर्ती के लिए हर दिन सौ से ज्यादा फोन आते थे, 2-3 दिन से ये 50-60 हो गए हैं। भर्ती को लेकर दबाव मई मध्य तक रह सकता है। गंभीर मरीज के डिस्चार्ज होने में 10 से 15 दिन लग रहे, लेकिन जल्दी आने पर 5 दिन में ठीक होने लगे हैं।

ऑक्सीजन की मांग यथावत
एकेवीएन एमडी रोहन सक्सेना के अनुसार, ऑक्सीजन की मांग अभी भी 120 टन बनी हुई है। आसपास के जिलों से मरीज आ रहे हैं। आने वाले दिनोें में ये कम हो सकते हैं।

जल्द सुधार की उम्मीद
कलेक्टर मनीष सिंह ने कहा कि अस्पतालों में मरीजों का दबाव व ऑक्सीजन, रेमडेसिविर की मांग बनी हुई है। संक्रमण दर में मई के पहले सप्ताह से गिरावट की उम्मीद है।

खबरें और भी हैं...