पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हाई कोर्ट:सरकार से 3 हफ्ते में मांगा जवाब; क्या सरकारी डॉक्टर ड्यूटी के बाद निजी प्रैक्टिस कर सकते हैं

इंदौर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इंदौर हाईकोर्ट (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
इंदौर हाईकोर्ट (फाइल फोटो)
  • स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव, संचालक स्वास्थ्य को नोटिस जारी
  • याचिका में प्रसूति के मामलों में महिला डॉक्टर की सेवाएं देने की अनुमति प्रदान की मांग

(राहुल दुबे) सरकारी अस्पताल की स्त्री रोग विशेषज्ञ महिला डॉक्टर की अर्जी पर हाई कोर्ट ने परिवार व स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव, संचालक स्वास्थ्य अन्य को नोटिस जारी करते हुए पूछा है कि क्या सरकारी अस्पताल में ड्यूटी खत्म होने के बाद डॉक्टर निजी अस्पतालों में प्रैक्टिस कर सकते हैं? कोरोना काल में अस्पताल डॉक्टर की किल्लत से जूझ रहे हैं। ऐसे में सरकारी अस्पतालों में सेवाएं दे रहे डॉक्टरों को अधिकृत रूप से सरकार निजी अस्पतालों में जाने की अनुमति दे। सरकार को तीन सप्ताह में जवाब देना है।

याचिकाकर्ता डॉक्टर की ओर से अधिवक्ता आदित्य संघी ने यह याचिका दायर की है। याचिका में उल्लेख किया है कि निजी अस्पतालों में डॉक्टर कोविड मरीजों का उपचार कर रहे हैं। ऐसे में सरकारी डॉक्टर वहां पर सेवाएं दे सकते हैं। डयूटी खत्म होने के बाद डॉक्टर घर चले जाते हैं। उनका उपयोग निजी अस्पतालों में किया जा सकता है। प्रसूति के मामलों में महिला डॉक्टर की सेवाएं देने की अनुमति प्रदान की जाना चाहिए। उल्लेखनीय है कि निजी अस्पतालों में सभी तरह के डॉक्टर कोविड मरीजों का उपचार कर रहे हैं। ऐसे में प्रसूति के मामलों में परिजन को भय रहता है कि संक्रमण न हो जाए।

खबरें और भी हैं...