पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Ayushi Wept In Court As Soon As Her 7 month old Daughter Was Asked, Cross Examination Is To Be Held Again In District Court Again Today

भय्यू महाराज की आत्महत्या का मामला:7 माह की बेटी के जन्म को लेकर सवाल किया तो कोर्ट में रो पड़ीं आयुषी, बोलीं- उसे बीच में नहीं लाना चाहती थी, तीसरे दिन नहीं हुईं पेश

इंदौर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बेटी का जन्म महाराष्ट्र के सांगोला या इंदौर में होने को लेकर किया गया सवाल
  • वकीलों ने भय्यू महाराज की पत्नी डॉक्टर आयुषी से दो दिन में 200 सवाल किया

भय्यू महाराज आत्महत्या मामले में मंगलवार को उनकी पत्नी आयुषी का प्रतिपरीक्षण अधूरा रह गया। इस मामले में बुधवार को भी उनसे क्रॉस एग्जामिनेशन होने थे, लेकिन वह कोर्ट नहीं पहुंचीं। अब गुरुवार को मामले की सुनवाई होगी। वहीं मंगलवार को पहले ही सवाल पर आयुषी की आंखों से आंसू निकल आए थे। आरोपी शरद के वकील धर्मेन्द्र गुर्जर ने मंगलवार को भी कई घंटे क्रॉस एग्जामिनेशन किया गया था। वकील धर्मेंद्र गुर्जर ने 7 माह की बेटी के जन्म को लेकर सवाल पूछा तो आयुषी रो पड़ीं।

बेटी के जन्म स्थल के सवाल पर रोते हुए आयुषी ने जवाब दिया कि उसका जन्म महाराष्ट्र के सांगोला में हुआ था इंदौर में नहीं। उनके पास फिलहाल उसका जन्म प्रमाण पत्र नहीं है। इस पर वकील ने जोर देकर कहा कि बच्ची का जन्म महाराष्ट्र में नहीं बल्कि इंदौर के एक निजी अस्पताल में हुआ था। इस पर आयुषी फूटकर रो पड़ीं। उन्होंने कहा कि मैं इस मामले में बच्ची को नहीं लाना चाहती। आयुषी ने स्वीकार किया कि महाराज की किसी से रंज‍िश नहीं थी। शरद की नियुक्ति को लेकर आयुषी ने कहा कि मुझे नहीं पता कि उसकी नियुक्ति कब और कहां के लिए हुई थी।

दो दिनों में दो सौ सवालों के दिए जवाब
आरोपी पक्ष के वकील के साथ ही विभिन्न वकीलों ने 2 दिन में डॉक्टर आयुषी से 200 से अधिक सवाल किए हैं। अधिकतर सवाल भय्यू महाराज और उनके बीच के रिश्तों को लेकर किए गए थे। इसी के साथ उनकी बच्ची और परिवार के अन्य सदस्यों से उनका किस तरह से व्यवहार था, इसको लेकर भी वकीलों ने डॉक्टर आयुषी से सवाल किए थे।

6 महीने में ट्रायल पूरा करना है
सु्प्रीम कोर्ट ने भय्यू महाराज के मामले की ट्रायल छह महीने में पूरा करने के निर्देश दिए हैं। इसलिए लोअर कोर्ट में इसकी तेजी से सुनवाई चल रही है।