पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • BCom Honors 92 Then MBA Closed At 90%; Registration Will Be Done On 23 Vacant Seats In Courses Covered By CET

डीएवी:बीकॉम ऑनर्स 92 तो एमबीए 90% पर बंद हुआ; सीईटी में शामिल कोर्सेस की खाली सीटों पर 23 से दोबारा होंगे रजिस्ट्रेशन

इंदौर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
देवी अहिल्या विवि (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
देवी अहिल्या विवि (फाइल फोटो)
  • इस बार सीईटी कोर्स के लिए 10 हजार 80 आवेदन आए थे

देवी अहिल्या विवि के सीईटी में शामिल कोर्सेस की खाली सीटों पर 23 अक्टूबर से एडमिशन के लिए दोबारा रजिस्ट्रेशन होंगे। नए छात्र भी रजिस्ट्रेशन करवा सकेंगे। इस बार यूनिवर्सिटी टीचिंग विभागों के सारे कोर्स में बीकॉम ऑनर्स की डिमांड सबसे ज्यादा रही। यह 91.59% पर बंद हुआ। यानी इस कोर्स का कट ऑफ 90% से ऊपर रहा। वहीं 5 साल के इंटीग्रेटेड कोर्स एमबीए एमएस का कट ऑफ 89.7 और बीए एलएलबी का 88.2 प्रतिशत रहा। बीए ऑनर्स का कट ऑफ भी 87.48% रहा। वहीं पीजी कोर्स में एमबीए फायनेंस का कट ऑफ सर्वाधिक 83.09, एमबीए एमएम का 80.39 और एमबीए एचआर का कट ऑफ 79.67% रहा।

पुराने छात्रों के लिए सिर्फ च्वॉइस फिलिंग
यूनिवर्सिटी जल्द खाली सीटों की संख्या जारी करेगी। इसके बाद नए और पुराने छात्र चॉइस फिलिंग करेंगे। इसके बाद मेरिट आधार पर छात्रों को पसंद का कोर्स अलॉट होगा। इस बार सीईटी कोर्स के लिए 10 हजार 80 आवेदन आए थे। यह पिछले साल से साढ़े 7 हजार कम थे।

नीट और जेईई : शहर के दो छात्र दे सकेंगे परीक्षा
कोरोना के कारण परीक्षा में शामिल होने से चूके छात्रों को जेईई एडवांस्ड और नीट के लिए एक बार फिर मौका मिलेगा। एनटीए ने जहां नीट दोबारा करवाने का फैसला लिया है, वहीं जेईई एडवांस्ड में छात्र अगले साल शामिल हो सकेंगे। जानकारी के अनुसार एनटीए द्वारा 16 अक्टूबर को नीट आयोजित की जा रही है। शहर के स्कूल को बनाए गए परीक्षा केंद्र पर एक छात्र इस परीक्षा में शामिल होगा।

वहीं अगले साल होने वाली जेईई एडवांस्ड में शहर के कुलदीप उपाध्याय को शामिल होने का मौका दिया जाएगा। कोरोना के कारण कुलदीप इस साल जेईई एडवांस्ड की परीक्षा में शामिल नहीं हो सके थे। उन्हें परीक्षा का मौका दिए बगैर जेईई एडवांस्ड का रिजल्ट जारी किए जाने पर कुलदीप ने हाई कोर्ट की इंदौर बेंच में केस भी दाखिल किया था। कुलदीप के भाई पलाश ने बताया नियमों के मुताबिक कोरोना पॉजिटिव छात्र को परीक्षा देने से वंचित नहीं किया जा सकता था, इसलिए केस लगाया था।

खबरें और भी हैं...