• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Both The Students Ran Away As Soon As The Speed Brake Came, Both Of The Business Family Of The City, Three Accused In Custody

‌‌2500 रुपए के लिए करोड़पति के बेटों का अपहरण!:इंदौर में बजाज फाइनेंस के एजेंट्स ने किश्त बकाया बताकर एक्टिवा सहित 2 स्टूडेंट्स को उठाया, चलती गाड़ी से कूदकर बचे

इंदौर4 महीने पहले

इंदौर के चंदननगर में 2500 रुपए की किस्त के लिए तीन लोगों ने 12वीं के दो छात्रों का अपहरण कर लिया। बजाज फाइनेंस कंपनी में नौकरी के पहले दिन रिकवरी को निकले तीन लोग एक्टिवा सहित दो छात्रों को किडनैप कर गाड़ी सहित ले जा रहे थे, लेकिन दोनों छात्र चलती गाड़ी से कूदकर भाग निकले। बाद में खुलासा हुआ कि जो गाड़ी जब्त की जा रही थी, उस पर कंपनी का कोई बकाया था ही नहीं। वह तो इंडसइंड बैंक से फाइनेंस पर थी। तीनों आरोपियों के खिलाफ अपहरण का केस दर्ज किया गया है।

अपहरण को लेकर आरोपियों ने पुलिस को सफाई दी है कि रजिस्ट्रेशन नंबर गलत पढ़ने की वजह से यह सब हुआ, हालांकि मामले में गाड़ी के साथ दोनों स्टूडेंट्स को ले जाने की कहानी गले नहीं उतर रही है। पुलिस ने बताया कि गाड़ी मालिक का भांजा निखिल सोनी अपने दो दोस्तों के साथ पोहा खाने चंदननगर गया था। यहां बजाज फाइनेंस कंपनी के तीन कर्मचारी आए और तीनों दोस्तों (निखिल सोनी, राम ठाकुर और अजान खान) को पकड़ लिया। इस दौरान तीनों को जबरन गाड़ी पर बिठाया और ले जाने लगे। इस दौरान राम ठाकुर वहां से भागने में सफल हो गया, जबकि आरोपी निखिल और अजान खान को गाड़ी पर बिठाकर ले गए, हालांकि चंदन नगर में ही स्पीड ब्रेकर पर गाड़ी के स्लो होते ही ये दोनों भी भागने में सफल हो गए। गाड़ी से कूदकर भागे निखिल और अजान शहर के करोड़पति प्रॉपर्टी डीलर और प्लाईवुड व्यापारी के पुत्र हैं। गाड़ी सचिन सोनी के नाम पर है, जिसका भांजा निखिल (MP09UV2123) गाड़ी लेकर गया था।

छात्रों ने कहा- आरोपियों ने मारपीट भी की
चंदननगर पुलिस के अनुसार घटना गुरुवार दोपहर 1:00 बजे की बताई जा रही है। पोहा खाकर एक्टिवा से निखिल, अजान और राम, चंदन नगर इलाके से घर जा रहे थे, तभी एक अस्पताल के पास फाइनेंस कंपनी के तीन रिकवरी एजेंटों ने तीनों को रोका। फिर उन्हें एक्टिवा से उतारा और उनके साथ मारपीट शुरू कर दी। मौका मिलते ही एक छात्र मौके से फरार हो गया, जिसके बाद दो आरोपियों ने एक छात्र को अपनी बाइक पर बिठाया और तीसरा आरोपी एक्टिवा चला रहे छात्र के पीछे बैठ गया और चुपचाप शहर में दूसरी जगह जाने की बात कही। इस दौरान मौका मिलते ही दोनों छात्रों ने गाड़ी से छलांग लगा दी और भागकर घर पहुंचे और परिजन को पूरी घटना बताई।

देर रात दोनों छात्र परिजन के साथ थाने पहुंचे और FIR दर्ज कराई। कार्रवाई करते हुए चंदननगर पुलिस ने देर रात रोहित गोहर, सिद्धार्थ सिसोदिया और मोहित नाम के तीन आरोपियों को हिरासत में लिया। तीनों आरोपियों से पुलिस पूछताछ कर रही है।

चंदननगर TI योगेश तोमर का कहना है कि तीनों आरोपी फाइनेंस कंपनी में रिकवरी एजेंट हैं। इनकी नौकरी का पहला दिन था। एक्टिवा की गलत पहचान के चलते इन्होंने स्टूडेंट को पकड़ लिया। मौका देखकर एक स्टूडेंट पहले ही भाग चुका था। दोनों स्टूडेंट्स की शिकायत पर तीनों आरोपितों के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज किया गया है। मामले की जांच की जा रही है।

खबरें और भी हैं...