पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अनलॉक कब:इंदौर से माल खरीदने वाले छोटे शहरों के कारोबारी भोपाल या जयपुर जा रहे

इंदौरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • हजार करोड़ रुपए का माल दुकानों, शोरूम में बंद पड़ा है

भोपाल पूरी तरह से अनलॉक हो गया है। ग्वालियर, जबलपुर में अलग-अलग शर्तों के साथ सभी बाजार खुले हुए हैं। पड़ोसी राज्यों के जयपुर, अहमदाबाद जैसे बड़े शहर भी खुल गए हैं। लेकिन इंदौर के कारोबारियों की चिंता बढ़ गई है, क्योंकि कपड़ा दुकानों से लेकर होम एप्लायंस, एसी, कूलर, फ्रिज, ज्वेलरी, कार जैसा एक हजार करोड़ रुपए का माल बंद पड़ा है।

छोटे शहरों के कारोबारियों ने अनलॉक शहरों से खरीदी शुरू कर दी है। इंदौर रिटेल गारमेंट एसोसिएशन के अध्यक्ष अक्षय जैन बताते हैं कि आठ दिन में ही छह हजार पेटी कपड़े के ऑर्डर रद्द हो चुके हैं। इसकी कीमत 40 करोड़ रुपए के करीब होगी।

महारानी रोड व्यापारी महासंघ के अध्यक्ष जितेंद्र रामनानी कहते हैं कि एमटीएच व अन्य जगह अभी भी मंजूरी नहीं मिली, इस वजह से बड़ा नुकसान हो रहा है। शासन, प्रशासन से लेकर बड़े व्यापारिक संगठनों के लिए भी कारोबारियों की नाराजगी बढ़ने लगी है।

923 मरीज पर लगा था लॉकडाउन, 117 में भी नहीं खुल रहा शहर
16 मार्च को शहर में नाइट कर्फ्यू लगा तब यहां 232 मरीज मिल रहे थे। 11 अप्रैल को लॉकडाउन लगाया गया तब मरीजों की संख्या 923 थी। गुरुवार को मरीजों की संख्या केवल 117 रही। इसके बाद भी बाजार खोलने में देरी हो रही है। जिला प्रशासन ने 21 मई को दस दिन के सख्त लॉकडाउन की शुरुआत की थी। तब कलेक्टर ने इसे बाजार खोलने से पहले का फाइनल स्ट्रोक बताया था।

खबरें और भी हैं...