इंदौर में अमेजन के खिलाफ शिकायत:ऑनलाइन जहर मंगवाकर 18 साल के लड़के ने जान दी; कलेक्टर बोले- कंपनी वालों पर NSA लगाएंगे

इंदौर6 दिन पहले

इंदौर कलेक्टर की जनसुनवाई में एक व्यक्ति ने ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी अमेजन के खिलाफ शिकायत की है। उनके बेटे ने अमेजन से जहर मंगवाकर तीन महीने पहले सुसाइड कर लिया था। पिता ने कलेक्टर मनीष सिंह से अमेजन वेबसाइट और ऐप को बंद कराने की गुहार लगाई है। कलेक्टर ने कहा है कि जांच कराएंगे। अमेजन की गलती पाई जाती है तो जिम्मेदारों पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (NSA) के तहत कार्रवाई की जाएगी।

लोधा कॉलोनी निवासी रणजीत वर्मा का बेटा आदित्य (18) फ्रूट सेलर था। रणजीत के मुताबिक उसने अमेजन से जहर के चार पैकेट मंगवाए थे। 29 जुलाई को उसकी हालत खराब हुई तो चोइथराम हॉस्पिटल ले गए। 30 जुलाई को उसकी मौत हो गई। हॉस्पिटल ले जाने के दौरान घर में जहर का पैकेट मिला था। उसने कितनी मात्रा में जहर खाया था, इसका पता नहीं चल सका। पिता का कहना है कि अगर बेटा इंदौर में किसी मेडिकल या अन्य दुकान पर जाता तो उसे ये जहर नहीं मिलता, लेकिन अमेजन ने आसानी से उपलब्ध करा दिया।

अमेजन ने डिलीवर कराया था जहर का ये पैकेट।
अमेजन ने डिलीवर कराया था जहर का ये पैकेट।

22 जुलाई को बुक किया था जहर का ऑर्डर
पिता ने बताया कि आदित्य ने 22 जुलाई को अमेजन पर ऑर्डर बुक किया था। बुकिंग नंबर और ऑर्डर नंबर भी हैं। ऐसे ही दूसरे ऑर्डर का भुगतान नहीं करने पर कंपनी ने ऑर्डर कैंसिल कर दिया था। इन सभी के दस्तावेज उन्होंने कलेक्टर को शिकायत के साथ दिए हैं। कंपनी ने गैर कानूनी रूप से जहर बेचने के व्यवसाय के साथ डिलीवरी की है।

युवा कार्यकर्ता संगठन का प्रदर्शन
युवा कार्यकर्ता सामाजिक संगठन के लोगों ने कलेक्टोरेट में तख्तियां लेकर प्रदर्शन किया। अमेजन के खिलाफ नारेबाजी की। कार्यकर्ता यतीन नागर, देवेंद्र सोलंकी व अन्य ने बताया कि ई-कॉमर्स की यह कंपनी प्रतिबंधित गांजा, शराब और दूसरे मादक पदार्थ तक ऑनलाइन बेच रही हैं। युवाओं में गलत संदेश जा रहा है। ऐसे ही एक मामले में भिंड पुलिस ने कार्रवाई की थी। कंपनी का संचालन ही बंद किया जाए। उन्होंने प्रदर्शन कर कलेक्टर के नाम ज्ञापन सौंपा।

खबरें और भी हैं...