कृष्णपुरा इलाके में लगे लाल निशान:इंदौर में 14 फीट तक टूटेंगे निर्माण, कई दुकानें पूरी तरह हो जाएगीं खत्म, निगम इंजीनियर कर रहे हैं कार्रवाई

इंदौर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
निगम की नपती - Dainik Bhaskar
निगम की नपती

बड़े गणपति से कृष्णपुरा क्षत्री तक होने वाले निर्माण को लेकर निगम जल्दी इंजीनियरों की मदद से लाल निशान लगवाने ओर उन्हें तोड़ने का काम करवा रहा है। बुधवार को व्यापारियों के विरोध के बाद निगम की टीम ने आधे दर्जन इंजीनियर लगाकर यहां लाल निशान लगवा दिये। जिसमें 14 फीट तक निर्माण टूटे जाना है। नगर निगम के अधिकारी और इंजीनियरो से बुधवार को कृष्णपुरा छत्री और राजबाड़ा के व्यापारियों का सेन्ट्रल लाईन को लेकर विवाद हो गया था। इस मामले में प्लानिंग के साथ आगे बढ़ते हुए स्मार्ट सिटी के कार्यपालन यंत्री धनीराम और बिल्ड़ीग अधिकारी अश्विन जनवदे यहां पहुंचे थे। गुरूवार ओर शुक्रवार सुबह यहां दोनो हिस्सों में लाल निशान लगाना शुरू किये गए। इस दौरान यहां नगर निगम दो झोंन से अपने अन्य इंजीनियर और मस्टरकर्मियो को साथ रखा था। ताकि किसी तरह का हंगामा नही हो सके।

14 फीट टूटेंगे निर्माण,कई व्यापारी सड़क पर
कृष्णपुरा छत्री के यहां अधिकतर छोटे व्यापारी है। जो कपड़े ओर झंडे का काम करते है। कई दुकानों की लंबाई करीब 10 से 12 फीट ही है। ऐसे में व्यापारियों का दर्द है कि सड़क पर आ जाएगें। यहां सालो से गुमटी और फुटपाथ लगाने वाले व्यापारी भी इस बात से दुखी है। निगम के अधिकारी उन्हें समझाइश ही दे रहे है। व्यापारियों के मुताबिक यहां 50 साल से अधिक का व्यापार संकट में आ पड़ा है।

जिंसी,गोराकुंड ओर खजूरी बाजार में तोड़फोड़ जारी
पूर्व विधायक सुदर्शन गुप्ता ओर निगम कमिश्नर प्रतिभा पाल ने एक दिन पहले गोराकुंड और खजूरी बाजार के व्यापारियों से बात की थी। इस मामले में यहां जिंसी,गोराकुंड और खजूरी बाजार में तोड़फोड़ व्यापारियों द्वारा ही की जा रही है। कई व्यापारी अपना व्यापार त्यौहारो के कारण होने वाली तोड़फोड़ को लेकर बिगड़ने के चलते नाराज भी है। उनके मुताबिक यह कारवाई दीपावली बाद की जाना उचित थी।

खबरें और भी हैं...