पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सांसों को सुकून:मांग 130 की 123 टन तक आने लगी ऑक्सीजन; स्थानीय इंतजाम भी बेहतर

इंदौर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पिछले पखवाड़े तक मांग और आपूर्ति में 20 टन से ज्यादा का फर्क था, अब यह अंतर बमुश्किल 7 टन का बचा है, जिसका इंतजाम स्थानीय स्तर पर आसानी से हो पा रहा है

राहत देने वाली खबर है कि शहर के ऑक्सीजन सप्लाय में एक सप्ताह से काफी सुधार हुआ है। इस दौरान सप्लाय में 20 से 25 टन तक की बढ़ोतरी हुई है। शहर में रोजाना औसत 123 टन आॅक्सीजन आ रही है, जबकि मांग 130 टन की है। मांग और आपूर्ति में अब सिर्फ 7 टन का अंतर रह गया है, जो पहले करीब 20 टन तक था।

25 अप्रैल तक शहर में करीब 90 टन तक ऑक्सीजन आ रही थी, जबकि मांग 110 टन की थी। शहर के प्रमुख अस्पताल संचालक भी मान रहे हैं कि पहले से स्थिति में काफी सुधार हुआ है। कलेक्टर मनीष सिंह के मुताबिक, स्थिति अब नियंत्रण में है। राेजाना औसत 123 टन ऑक्सीजन इंदौर जिले को मिल रही है। कुछ डिमांड हम स्थानीय स्तर पर भी पूरी कर रहे हैं।

अस्पतालों ने माना- पहले जैसी परेशानी नहीं

1. अरबिंदो मेडिकल कॉलेज के डॉ. मोहक भंडारी ने बताया स्थिति में सुधार है। 20 टन का इंतजाम हो रहा है। अभी और आवश्यकता है। 2. इंडेक्स मेडिकल कॉलेज चेयरमैन सुरेश भदौरिया कहते हैं, 6 हजार लीटर लिक्विड ऑक्सीजन मिल रही है, जो पर्याप्त है। हमारा अपना प्लांट भी है।

3. चोइथराम हॉस्पिटल प्रबंधन ने भी माना कि हमारा प्लांट है, बावजूद जो जरूरत बाहर से थी, उसमें अब काफी सुधार है। पहले जैसी दिक्कत नहीं। 4. ग्रेटर कैलाश के डॉ. अनिल बंडी के मुताबिक पहले के मुकाबले स्थिति ठीक है। परेशानी आती भी है तो मैनेज हो जाती है। 5. ट्रू केयर हॉस्पिटल के दिनेश सिंह के मुताबिक अब स्थिति ठीक है। हमें 200 से 225 सिलेंडर लगते हैं, अभी आसानी से मिल रहे हैं। 6. यूरेका हॉस्पिटल के संदीप कल्याने ने बताया, कम भाग-दौड़ में व्यवस्था हो रही है। मेडिकेयर प्रबंधन ने माना इंतजाम में समय ज्यादा लग रहा है।

ऐसे बदले हाल; 4 अप्रैल से अब तक कभी सुबह 4 बजे के पहले नहीं सोए
ऑक्सीजन की व्यवस्था का जिम्मा एमपीआईडीसी एमडी रोहन सक्सेना व एडीएम अभय बेड़ेकर के पास है। सक्सेना जामनगर व पीथमपुर से टैंकर इंदौर पहुंचने तक तो बेड़ेकर शहर में वितरण व्यवस्था देखते हैं। ये और टीम के ज्यादातर अफसर 4 अप्रैल से अब तक सुबह 4 बजे से पहले नहीं सोए हैं।

खबरें और भी हैं...