एमवाय अस्पताल:रिटायरमेंट बाद भी पेंशन केस आगे नहीं बढ़ा रहा है विभाग

इंदौर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ताजा मामला शासकीय डेंटल कॉलेज से मई 2020 में रिटायर्ड हो चुके मानसिंह चौधरी का है। - Dainik Bhaskar
ताजा मामला शासकीय डेंटल कॉलेज से मई 2020 में रिटायर्ड हो चुके मानसिंह चौधरी का है।

एमवाय अस्पताल से रिटायर्ड हो चुके कर्मचारी पेंशन के लिए महीनों से परेशान हैं। वे प्रशासनिक अधिकारियों के कार्यालय के चक्कर लगा रहे लेकिन कोई न कोई कारण बताकर पेंशन प्रकरण आगे नहीं बढ़ाए जा रहे। ऐसे में इन कर्मचारियों की आर्थिक हालत खराब हो चुकी।

ताजा मामला शासकीय डेंटल कॉलेज से मई 2020 में रिटायर्ड हो चुके मानसिंह चौधरी का है। इनके पेंशन प्रकरण का निपटारा अभी तक नहीं हुआ है। वे दफ्तरों के चक्कर लगाने के अलावा मुख्यमंत्री हेल्पलाइन में भी शिकायत कर चुके, लेकिन कहीं से संतोषजनक जवाब नहीं मिला।

यह है नियम : रिटायरमेंट से 6 माह पहले प्रक्रिया शुरू कर देना चाहिए

शासन का नियम है कि कर्मचारी के रिटायर होने के 6 माह पूर्व से उसकी पेंशन सर्विस बुक की प्रक्रिया शुरू कर देना चाहिए। 3 माह पहले से जीपीएफ काटना बंद करना चाहिए, लेकिन एमवायएच में रिटायर्ड कर्मचारियों को न तो पेंशन, न जीपीएफ और न ही अन्य कोई भुगतान किया जा रहा, जिससे प्रशासनिक कार्यप्रणाली पर प्रश्नचिह्न लग रहा।

यहां तो 10 कर्मचारियों के पीपीओ जारी हो गए

एक तरफ कोरोना संक्रमण का हवाला दिया जा रहा है, वहीं दूसरी ओर स्वास्थ्य विभाग में कोविड-19 संक्रमण काल में रिटायर हुए 10 कर्मचारियों के पीपीएफ जारी हो चुके।

16 लोगों के पीपीओ जारी किए, दो को मिल चुके

एमवाय अस्पताल के प्रशासनिक अधिकारी समकीत जैन कहते हैं कोरोना संक्रमण के कारण एक साल से देरी हो रही थी, लेकिन एक माह से काम ने रफ्तार पकड़ी है। इसी महीने 16 लोगों के पीपीओ जारी किए गए। दो को पीपीओ मिल चुके।

खबरें और भी हैं...