पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Disaster Management Group Will Decide On Two Votes Of The Parents Regarding The Opening Of The School.

स्कूलों ने भी शुरू की तैयारी:स्कूल खोलने को लेकर पालकों के दो मत 24 को आपदा प्रबंधन समूह करेगा फैसला

इंदौर3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
स्कूल खोले जाने से पहले बनाई जा रही कोरोना की गाइड लाइन - Dainik Bhaskar
स्कूल खोले जाने से पहले बनाई जा रही कोरोना की गाइड लाइन
  • आज सांसद से भी मिलेंगे पालक, रखेंगे अपनी राय, स्कूलों ने भी शुरू की तैयारी

ग्यारहवीं, बारहवीं के स्कूलों को 26 जुलाई से खोले जाने को लेकर मुख्यमंत्री की घोषणा के बाद अब आपदा प्रबंधन समूह को फैसला करना है। इंदौर में इसकी बैठक संभवत: 24 जुलाई (शनिवार) को हो सकती है। हालांकि स्कूल प्रबंधन, स्कूलों को खोले जाने को लेकर सरकारी आदेश आने का इंतजार कर रहे हैं। उनका कहना है कि हम सरकारी गाइड लाइन के मुताबिक ही तैयारी करेंगे और स्कूलों को खोलेंगे।

वैक्सीन लगने के बाद जाएं बच्चे

मामले में सांसद शंकर लालवानी का कहना है कि स्कूलों को खोले जाने को लेकर पालकों का अलग-अलग मत है। इसमें एक धड़ा चाहता है कि मोबाइल और लैपटॉप पर पढ़ाई कर छात्र ऊब चुके हैं। अब उन्हें स्कूल जाना चाहिए। वहीं दूसरा धड़ा चाहता है कि स्कूल खुलने से पहले उनके बच्चों को वैक्सीन लग जाए।

बुधवार को अफसरों व पालक संघ का एक प्रतिनिधिमंडल मुझसे मिलने आएगा। उनसे चर्चा करने के बाद संभवत: शनिवार-रविवार को आपदा प्रबंधन समूह की बैठक बुलाई जा सकती है। उसमें पालकों की बात रखी जाएगी और सभी की सहमति से निर्णय लिया जाएगा।

कोरोना केस के रिव्यू भी करेंगे

भाजपा नगर अध्यक्ष गौरव रणदिवे का कहना है कि हम जल्दी ही बैठक करके कोरोना के केस का रिव्यू करेंगे। दरअसल, स्कूल के सभी छात्र 18 साल से छोटे हैं। ऐसे में स्कूलों को खोले जाने को लेकर प्रोटोकॉल तैयार किया जाना है। उसके बाद ही स्कूलों को खोला जाएगा।

स्कूल एसोसिएशन कर रहे सरकार की गाइड लाइन का इंतजार

सहोदया ग्रुप के चेयरमैन यूके झा का कहना है हम 18 जुलाई को बैठक कर चुके हैं। सभी लोग आपदा प्रबंधन समिति की गाइड लाइन का इंतजार कर रहे हैं। फिलहाल तो सभी स्कूल 12वीं के मार्क्स में लगे हुए हैं। 22 जुलाई तक स्कूलों को मार्क्स के लिए तैयारी करना है। सीएम ने कहा था कि एक भी केस होगा तो हम नहीं खोल पाएंगे।

ऐसे में इंदौर में तो अभी 4 केस तक निकल रहे हैं। साथ ही एसोसिएशन ऑफ अनएडेड सीबीएसई स्कूल के अध्यक्ष अनिल धूपर का कहना है कि हम अपेक्षा करते हैं कि जो भी आदेश है, वह तत्काल जारी किया जाए। उसके लिए लगभग तीन से चार दिन पहले हमें निर्देशित किया जाए, क्योंकि हमें परिसर को सैनिटाइज कराना होगा और क्लास रूम को उनके अनुरूप ही तैयार करना होगा।

खबरें और भी हैं...