18 साल की प्रेम कहानी का दुखद अंत:शिक्षा अधिकारी मां ने बेटे और बहू को दी मुखाग्नि

इंदौर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

18 साल की प्रेम कहानी के दुखद अंत के बाद पाटी की विकासखंड शिक्षा अधिकारी मां राजश्री पवार ने बेटे पवन (36) और बहू नेहा को बुधवार शाम बड़वानी में मुखाग्नि दी। परिजन हैरान हैं कि जब बेटे की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई तो फिर उसकी मौत कैसे हो गई। इस बारे में बताया जा रहा है कि पवन के फेफड़े में संक्रमण काफी फेल चुका था। इसलिए वह रिकवर नहीं हो पाया था।

उसकी मौत से दुखी नेहा (34) ने ढाई घंटे बाद फ्लैट में फांसी लगा ली थी। दोनों का पांच साल पहले प्रेम विवाह हुआ था। पवन का पीएससी के जरिये रेंजर के लिए चयन हुआ था। वह ट्रेनिंग के लिए देहरादून जाने वाले थे, लेकिन कोरोना हो गया। नेहा निजी कॉलेज में असिस्टेंट प्रोफेसर थीं।

खबरें और भी हैं...