पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मौसम:गेंदे पर बारिश का असर, 9 दिन पहले 60 रु. किलो, अब भाव 80

इंदौरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

देवी अहिल्या बाई फूल मंडी में नवरात्र में गेंदे की आवक तो 4500 क्विंटल रही, लेकिन थोक में भाव 60 रुपए किलो तक ही रहे। खेरची में यही फूल 100 रुपए किलो तक बिका। नवरात्र में जो गेंदा खेरची में 60 से 80 रुपए किलो तक बिका, वही दशहरे पर 80 से 100 रुपए किलो के भाव में बिकना बताया जा रहा है।

ऐसा बारिश और फूल की फसल में कीड़ा लगने के कारण हुआ। चोइथराम स्थित फूल मंडी में शहर के आसपास के अलावा रतलाम और महाराष्ट्र से बड़ी संख्या में फूलों की आवक होती है। जून से जनवरी तक फूलों की आवक सबसे ज्यादा रहती है।

इंदौर के आसपास से जून से जनवरी तक, रतलाम व उसके आसपास से अगस्त से फरवरी तक और जून से फरवरी तक महाराष्ट्र से गेंदे की आवक ज्यादा रहती है। इंदौर मंडी में आम दिनों में जहां औसतन 20 हजार किलो तक माल की आवक होती है तो त्योहारी सीजन में यह 40 से 50 हजार किलो तक हो जाती है।

फूलों की फसल पर बारिश का असर
इंदौर फूल विक्रेता संघ के अध्यक्ष कैलाश कुसुमाकर ने बताया कि फूल के व्यापार को इस बार सबसे ज्यादा नुकसान बारिश और फसल को कीड़ा लगने के कारण हुआ। ऐसे में इस बार के त्योहारी सीजन में फूलों की आवक पिछले साल की तुलना में लगभग 50 प्रतिशत ही रह गई। नवरात्र की शुरुआत से ही रतलाम से गेंदे की आवक शुरू हो गई है। महाराष्ट्र से आने वाला गेंदा बारिश के कारण गीला आ रहा है। इंदौर के आसपास का गेंदा गीला होने के कारण खराब हो गया है।

सड़क किनारे 10% दुकानें ही लगीं
इस बार लगातार बारिश से वे दुकानदार इस व्यापार से पूरी तरह बाहर हो गए, जो त्योहारी सीजन में सड़क किनारे दुकानें लगाते थे। उन्हें फूलों के खराब होने व कम ग्राहकी का डर सता रहा था। ऐसे में जो स्थायी दुकानदार थे, वहां से भी सीमित ग्राहकी ही निकली। इससे व्यापार काफी कम रहा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- रचनात्मक तथा धार्मिक क्रियाकलापों के प्रति रुझान रहेगा। किसी मित्र की मुसीबत के समय में आप उसका सहयोग करेंगे, जिससे आपको आत्मिक खुशी प्राप्त होगी। चुनौतियों को स्वीकार करना आपके लिए उन्नति के...

और पढ़ें