ईद उल फितर / बाेहरा समाज ने मनाई ईद, धर्मगुरु के वसीले की रिकॉर्डिंग घरों में दिखाई गई, सिंवैया और शीरखुरमा से किया मुंह मीठा 

बोहरा समाज के जनसंपर्क मीडिया प्रभारी मजहर हुसैन सेठजीवाला ने घर पर ही परिवार के साथ ईद मनाई। बोहरा समाज के जनसंपर्क मीडिया प्रभारी मजहर हुसैन सेठजीवाला ने घर पर ही परिवार के साथ ईद मनाई।
X
बोहरा समाज के जनसंपर्क मीडिया प्रभारी मजहर हुसैन सेठजीवाला ने घर पर ही परिवार के साथ ईद मनाई।बोहरा समाज के जनसंपर्क मीडिया प्रभारी मजहर हुसैन सेठजीवाला ने घर पर ही परिवार के साथ ईद मनाई।

  • लाॅकडाउन के बीच लोगों ने घरों में रहकर फोन और मैसेज के माध्यम से एक-दूसरे को बधाई दी

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 02:05 PM IST

इंदौर. बाेहरा समाज शनिवार को ईद उल फितर का पर्व मना रहा है। काेराेना महामारी के चलते जारी लाॅकडाउन के बीच लोग घरों में रहकर फोन और मैसेज के माध्यम से एक-दूसरे को बधाई दे रहे हैं। बोहरा समाज के जनसंपर्क मीडिया प्रभारी मजहर हुसैन सेठजीवाला ने बताया ईद उल फितर की रात 22 मई को विशेष नमाज वश्शेक पढ़ी गई। 53वें धर्मगुरु आली कदर मुफद्दल सैफुद्दीन मौला (त:उ:श:) के वसीले (बयान) की रिकॉर्डिंग सभी बोहराजन के घरों में दिखाई गई। शनिवार सुबह 5.45 बजे ईद उल फितर का खुतबा पढ़ा गया। इसके अलावा देश में कोरोना संक्रमण के रूप में आई आफत से निजात मिलने की दुआ भी विशेष रूप से ईद की नमाज में मांगी गई। समाजजनाें ने प्रशासन की गाइडलाइन का पालन करते हुए अपने सबसे बड़े पर्व को मनाया और घरों पर ही सिंवैया और शीरखुरमा से मुंह मीठा किया। 

लॉकडाउन का पालन करते हुए नमाज अदा करने मस्जिद नहीं गए समाजजन।

रमजान के आखिरी जुमा पर घरों में रहकर समाजजनों ने अदा की नमाज

उधर, मुस्मिलजनों ने रमजान के माह का आखरी जुमा (शुक्रवार) को घरों में रहकर नमाज अदा की और इबादत की। वहीं पांच पाक रातों में आखरी रात भी थी। रातभर समाजजनों ने जागकर खुदा से इबादत की। समाजजनों ने बताया कि शुक्रवार को रमजान का आखिरी जुमा था। समाजजनों ने घरों में रहकर ही नमाज अदा की। इधर, ईद का पर्व आने वाला है। समाजजनों ने ईद को लेकर तैयारियां भी शुरू कर दी हैं। जिन्हें जरूरत है, उनकी भी संस्थाएं मदद कर रही हैं, ताकि वे ईद का पर्व उत्साह के साथ मना सकें।

पुलिस की अपील- ईद की नमाज घरों में ही पढ़ें
सदर बाजार और मल्हारगंज इलाके में पुलिस अधिकारियों ने शांति समिति के सदस्यों के साथ बैठक की। बैठक में मस्जिदों के इमाम और सदर उपस्थित थे। सभी से अपील की गई कि लॉकडाउन के चलते समाजजन मस्जिदों में नमाज अदा करने न पहुंचें। घरों में ही नमाज अदा की जाए। एएसपी मनीष खत्री ने बताया जिन्हें प्रशासन की द्वारा अनुमति दी गई है वे ही मस्जिदों में इबादत के लिए पहुंच सकेंगे। उधर, जूनी इंदौर सर्कल में एएसपी राजेश व्यास और सीएसपी दिशेष अग्रवाल ने भी बैठक ली। बैठक में मुस्लिम समाज के वरिष्ठ लोग व नागरिकगण उपस्थित थे।

इस बार ईदगाह में नहीं होगी ईद की नमाज : कलेक्टर
हर साल ईद पर ईदगाह में होने वाली सामूहिक नमाज इस बार नहीं होगी। कलेक्टर मनीष सिंह ने कहा कि मस्जिदों और ईदगाहों में सामूहिक नमाज नहीं होगी, सभी को घर पर ही रहकर नमाज अदा करना है। मस्जिदों में भी जो स्थाई रूप से वहां रह रहे हैं, केवल वही धार्मिक कर्म करेंगे, बाहर से किसी को नहीं आने देंगे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना