बंद बिजली लाइन में आया करंट, लाइनमैन की मौत:इंदौर में बिजली सुधारने 13 मीटर ऊंचे पोल पर चढ़ा लाइनमैन, बंद लाइन में आया करंट, गिरने से मौत‌, AE बोले-लाइन बंद थी

इंदौरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रेम कुमावत - Dainik Bhaskar
प्रेम कुमावत

इंदौर के गीता भवन क्षेत्र में बंद बिजली लाइन में करंट आ जाने से लाइनमैन की गिरने से मौत हो गई। जब तक उसके साथ उसे एमवाय अस्पताल ले गए, तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। बताया जाता है कि दिलपसंद बिल्डिंग के पास बिजली बंद होने के चलते कर्मचारी वहां पर काम करने पहुंचे थे। उनके पास सुरक्षा को लेकर उपकरण भी नहीं थे।

पलासिया पुलिस के मुताबिक घटना गीताभवन इलाके में दिलपसंद बिल्डिंग के बाहर की है। यहां प्रेम पुत्र रमेश कुमावत निवासी देवगुराडिया अपने अन्य साथी राकेश कुमावत, अरुण और रमेश मास्टर के साथ बिजली के 13 मीटर ऊंचे पोल पर जंपर बदलने पहुंचा था। यहां पहले काम के लिए विद्युत कंपनी के अधिकारियों ने ग्रिड से बिजली बंद कर दी थी। काम करते समय एकाएक करंट आ जाने से प्रेम खंभे से नीचे गिर गया और उसकी मौत हो गई। प्रेम 10 साल से बिजली कंपनी में कार्यरत था। उसके परिवार में पत्नी, 11 साल का बेटा और 4 साल की बेटी है।

सुरक्षा व्यवस्था में लापरवाही

गीताभवन बिजली कंपनी के AE सत्यप्रकाश जायसवाल के मुताबिक बिजली बंद होने के लिए कर्मचारियों ने परमिट लिया था। प्रारंभिक जांच में ग्रिड से बिजली बंद होना पाई गई है, लेकिन कई बार इनवर्टर या डीसी की तरफ से लाइन में रिटर्न करंट आता है। हादसा होने का कारण इसी से सामने आया है। वहीं सुरक्षा उपकरण को लेकर टेंडर वाली कंपनी क्यूस कार्प की लापरवाही पर जांच करेंगे।

छह माह पहले ही लिया था ठेका

जानकारी के मुताबिक क्यूस कार्प कंपनी को जम्बो उपकरण के लिए छह माह पहले ही ठेका दिया गया था। जिसमें ठेकेदार धनजंय के अंडर काम कर रहा था। साथ में काम करने वाले कर्मचारियों के मुताबिक सुरक्षा के अन्य उपकरण उनके पास नहीं थे। लापरवाही को लेकर पलासिया पुलिस मामले में जांच कर रही है।

खबरें और भी हैं...