रूपारिया के लॉकर ने उगले गहने:एमपी स्टेट के प्रबधंक के यहां EOW ने की थी आय से ज्यादा संपत्ति को लेकर कार्रवाई

इंदौरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

EOW इंदौर ने धार एमपी स्टेट के प्रबधंक के यहां करीब दो सप्ताह पहले कार्रवाई की थी। धार, इंदौर, शाजापुर और भोपाल सहित अन्य ठिकानों पर छापे मारे थे। इस दौरान मकान, खेत, अस्पताल सहित नकदी आभूषणों की जब्ती की गई थी। जांच में एक लॉकर होने की बात सामने आई थी। मंगलवार को अधिकारियों ने मजिस्ट्रेट के साथ मिलकर लॉकर खोला, जिसमें लाखों रुपए के गहने मिले हैं।

एसपी धंनजय शाह के मुताबिक एमपी स्टेट एग्रो इंडस्ट्री डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन धार के प्रबंधक रमेशचंद्र रूपारिया घर, त्रिमुर्ति नगर, धार, आलोक नगर, कनाडिया रोड, इंदौर, ग्राम मोहन बडोदिया, शाजापुर, केयर हॉस्पिटल, ग्राम मोहन बडोदिया आगर सारंगपुर रोड मुख्य मार्ग और पुत्र बृजमोहन पाटीदार के फ्लेट नंबर-215-सी, सेकेण्ड फ्लोर, चिनार वुडलैण्ड, कालोरा रोड, भोपाल व रूपारिया के एम.पी. स्टेट एग्रो इंडस्ट्रीज डेवलपमेंट कार्पोरेशन त्रिमूर्ति चौराहा के आफिस पर कार्रवाई की थी।

इसमें घर से भी लाखों रुपए कीमत के जेवर और जमीनों के दस्तावेज को लेकर जानकारी सामने आई थी। दस्तावेज में रमेश रूपारिया के नाम से यूनियन बैंक ऑफ इंडिया धार में लॉकर की जानकारी पाई थी। इसमें डीएसपी अनिरुद्ध वाधिया ने कार्यपालक मजिस्ट्रेट के साथ लॉकर खुलवाया। सोने व चांदी के आभूषण मिले हैं। इनकी कीमत 10 लाख रुपए बताई गई है। इसे भी रूपारिया के खिलाफ जांच में शामिल किया गया है।