• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Expert Said Average Students Can Also Clear The Exam, See The Weightage Of The Subject, Prepare

NDA एग्जाम की तैयारी ऐसे करें:एक्सपर्ट बोले- एवरेज स्टूडेंट्स भी क्लियर कर सकते हैं एग्जाम, सब्जेक्ट के वेटेज देख करें तैयारी

इंदौरएक वर्ष पहले

UPSC के नेशनल डिफेंस एकेडमी (NDA) के लिए फॉर्म मिलने लगे है। 10 अप्रैल को एग्जाम होने की संभावना है। ऐसे में स्टूडेंट्स एग्जाम में तैयारी में जुट गए हैं। परीक्षार्थियों को इन दिनों में कैसे एग्जाम की तैयारी करने की जरूरत हैं। किन सब्जेक्ट पर फोकस करना है, किन बुक्स का उपयोग करना है, जो एग्जाम में सफलता दिला सके... ये सभी हमें बता रहे है एजुकेशन एक्सपर्ट लखन सिंह यादव (निदेशक, फोर्स डिफेंस एकेडमी)। उनका कहना है कि रिजल्ट की स्टडी से पता चलता है कि एक ऐवरेज स्टूडेंट भी स्ट्रैटजी के साथ तैयारी करें तो आसानी से एग्जाम को क्लियर कर सकता है।

एजुकेशन एक्सपर्ट लखन सिंह यादव का कहना है ऐसा कहा जाता है कि NDA की एग्जाम सबसे सरल एग्जाम है। रिजल्ट की स्टडी करते हैa तो पता चलता है कि ऐसे परीक्षार्थी जो ऐवरेज रहे हैं। वे भी एग्जाम क्लियर करते हैं, रिकमेंड भी होते है और ऑफिसर भी बनते हैं। अभी जो रिजल्ट आया है। उसमें 900 में से 344 नंबर लाने वाला परीक्षार्थी भी रिकमेंड हुआ है। यानी वह नेशनल डिफेंस एकेडमी जॉइन कर रहा है। परीक्षार्थी का ओवर ऑल परफॉमर होना चाहिए।

सबसे टॉपर परीक्षार्थी की बात करते है तो वह 656 नंबर लेकर आया है और लास्ट वाला परीक्षार्थी 344 नंबर लेकर आया है। इससे समझ आता है कि एक ऐवरेज परीक्षार्थी भी इस एग्जाम को क्लियर कर सकता है। परीक्षार्थियों में डर होता है कि रिटर्न एग्जाम के बाद SSB का क्या होगा? यहां भी मैं क्लियर करना चाहता हूं कि ऐसे स्टूडेंट्स जो रिटर्न एग्जाम में 344 नंबर लाया है वह SSB में 394 नंबर लेकर आए है। यानी रिटर्न से ज्यादा नंबर परीक्षार्थी SSB में लेकर आ चुके है। यह एक सुनहरा मौका है जो परीक्षार्थी फौज में अफसर बनना चाहते है। दो चरणों में ये एग्जाम होती है। ये दोनों ही चरण स्टूडेंट्स के लिए महत्वपूर्ण होते है। मैथ 300 नंबर का होता है जिसमें 120 प्रश्न आते है और प्रत्येक प्रश्न ढ़ाई नंबर का होता है। दूसरा चरण जो होता है उसमें है GAT, जो 600 नंबर का होता है इसमें 150 प्रश्न आते है।

सबजेक्ट का वेटेज फिक्स, सबजेक्ट और टॉपिक्स को स्ट्रांग करें
उन्होंने कहा कि NDA की एग्जाम में सभी सब्जेक्ट का वेटेज फिक्स हैं। NDA का वेटेज 300 नंबर का है। इंग्लिश का 200 नंबर का है, फिजिक्स का 100 है, केमेस्ट्री का 60, ज्योग्राफी का 80 है, हिस्ट्री और पॉलिटी का भी 80 है। हर सब्जेक्ट को उसके वेटेज के अनुसार पढ़ना जरूरी है। कोई सब्जेक्ट ऐसे है जिनका वेटेज ज्यादा है, जैसे इंग्लिश। कई परीक्षार्थी इंग्लिश पर ध्यान नहीं देते है और इंग्लिश पर लास्ट टाइम तक फोकस नहीं करते है।

जब टाइम आता है तब पढ़ने बैठते है, जब तक सब्जेक्ट हाथ से निकल चुका होता है। इसी तरह से फिजिक्स 100 नंबर का है लेकिन इसका लेवल 9th और 10th का लेवल आता है। इसलिए बेसिक कॉन्सेप्ट आपके क्लियर होना चाहिए। परीक्षार्थी न्यूमेरिकल में उलझे रहते है। वे प्रिवीयस ईयर के प्रश्नों का स्टडी करें। प्रिवीयरस ईयर का स्टडी करने के बाद देखे कहां से क्या पूछा गया है। उन सब्जेक्ट्स को उन टॉपिक्स को स्ट्रांग बनाए ये स्ट्रेंथ आपको कहीं न कहीं एग्जाम में हेल्प करती है। मैथ की बात करें तो 11th और 12th का एनसीईआरटी और दूसरे पब्लिकेशन की किताबें काफी हेल्पफूल होती है। मैथ एग्जाम का बेकबोन है इसमें अच्छे नंबर लाना जरूरी है।

8 से 10 घंटे की प्रिपरेशन दिलाएगी सफलता
एक्सपर्ट लखन सिंह यादव ने कहा कि हर परीक्षार्थी का स्टडी टाइम अलग-अलग होता है। ये स्टूडेंट टू स्टूडेंट पर डिपेंड करता है कि उसे कितना पढ़ना है। कोई स्टूडेंट 6 घंटे में उतनी अच्छी मेहनत कर लेता है, जो दूसरा स्टूडेंट 8-9 घंटे में भी नहीं कर पाता है। या किसी स्टूडेंट को समय ज्यादा लगता है। परीक्षार्थी अपनी कमजोरी और अच्छाईयों पर फोकस करें और उसी हिसाब से तैयारी करें। यह नेशनल लेवल का एग्जाम है इसलिए इसमें कहीं न कहीं लेवल तो होता ही है। स्टूडेंट कॉन्सेप्चुअल फोकस करें कम से कम 8 से 10 घंटे का प्रिपरेशन करना चाहिए। 90 दिन के आसपास का समय बचा है। ये समय काफी क्रूशियल है।

इन 90 दिनों में नया भी पढ़े और रीविजन पर भी ध्यान दें। रीविजन महत्वपूर्ण होता है। मॉक टेस्ट 1 माह बाद लगाए। परीक्षार्थी अरिहंत, दिशा पब्लिकेशन की बुक्स के साथ-साथ एनसीईआरटी की बुक्स से तैयारी करें। इसके अलावा मॉक टेस्ट के लिए भी अलग-अलग प्रैक्टिस सेट्स आते हैं। साइंस में बेसिक साइंस आता है इसलिए वहां 9th और 10th की किताबें बढ़ी मायने रखती है। एनसीईआरटी बुक्स को जिस स्टूडेंट्स ने बेस बनाया है वह विफल नहीं होंगे।

एमपी एसआई एग्जाम की तैयारी:एक्सपर्ट बोले फिजिकल और मेंटल फिटनेस जरूरी, ऐसे करें प्लानिंग

NDA एग्जाम की तैयारी कैसे करें:एक्सपर्ट बोले- मैथ्स, फिजिक्स, केमिस्ट्री पर करें फोकस, 7 से 8 घंटे की सेल्फ स्टडी

8 जनवरी से प्रस्तावित पुलिस कॉन्स्टेबल भर्ती परीक्षा:एक्सपर्ट बोले- आसान टॉपिक्स से करें रीविजन, एग्जाम देते वक्त इन बातों का रखें ध्यान